ई-कॉमर्स क्या हैं इसके फायदे एवं नुकसान What is E-Commerce and Its Benefits

ई-कॉमर्स क्या हैं इसके फायदे एवं नुकसान

ई-कॉमर्स क्या हैं-ई-कॉमर्स के जरिए कोई भी कंपनी अपने प्रोडक्ट के बारे में विस्तारपूर्वक व्याख्या कर सकती है हम इन्टरनेट के माध्यम से कंप्यूटर के सामने बैठकर किसी भी प्रोडक्ट को खरीद सकते है| “इलेक्ट्रानिक विधियों जैसे- EDI (electronic data inter change) तथा ऑटोमेटेड डाटा कलेक्शन के माध्यम से बिजनेस कमर्शियल कम्युनिकेशंस तथा मैनेजमेंट को कंडक्ट करने की सुविधा को ई-कोमर्स कहते है| ई- कॉमर्स इन्टरनेट पर प्रोडक्टो को बेचना तथा खरीदना और व्यापार तथा उपभोक्ताओ के द्धारा सेवाए उपलब्ध कराने की टेक्निक है|

कॉमर्स क्या हैं-

  • ई-कॉमर्स को विस्तार रूप से इलेक्ट्रानिक कॉमर्स भी कहते है| ई- कॉमर्स खरीददारी, बेचना, मार्केटिंग, तथा प्रोडक्टो की सर्विस इत्यादि से मिलकर बना होता है | ये सेवाएं कंप्यूटर नेटवर्क पर भी की जाती है|
  • ई-कॉमर्स कंप्यूटर के माध्यम से व्यापार करने की व्यवस्था है| कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से बिजनेस से संबंधित फाईलो को एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेजा जा सकता है|

ई-कॉमर्स क्या हैं,E-Commerce के प्रकार-

E-Commerce कई टाइप के होते हैं उनमे से कुछ कॉमन types इस प्रकार है-

Business to Business या B2B इस तरह के E-Commerce में एक बड़ी कंपनी किसी दूसरी बड़ी कंपनी को अपना product खरीदती या बेचती है|

Business to consumer या B2C इस तरह के E-Commerce में एक कंपनी अपना product consumer तक पहुचाती है जैसे की आप एक सॉफ्टवेयर कंपनी adobe का ही उदहारण ले लीजिये वह अपना सॉफ्टवेयर जैसे Photoshop consumer तक पहुचती है|

Consumer to Consumer या C2C इसमें product consumer से consumer तक जाता है इसका मुख्य उदहारण OLX या quicker है|

Consumer to business या C2B इसमें product consumer से किसी कंपनी के पास जाता है|

E-Commerce या shopping websites के विभिन्न अंग-

किसी भी e-Commerce वेबसाइट के कई अंग होते है जैसे कुछ नाम इस प्रकार है-

Buyers (खरीदने वाले) – Buyers यानी वे लोग जो सामान खरीदते है जैसे आप और मैं हम किसी भी वेबसाइट से कुछ भी खरीदते है तो हम उस वेबसाइट पर buyer होते हैं E-Commerce या online shopping websites buyers के लिए ही तो बनाई जाती है|

Sellers (बेचने वाले) – Sellers यानी बेचने वाले ये वो लोग होते है जो online shopping वेबसाइट पर अपनी दूकान चलाते है यानी ये सामान बेचते है online सेलर कोई भी बन सकता है बस seller बनने के लिए product की जरूरत होती है|

E-Commerce से फायदे (Advantages)-

  • E-commerce के बजह से हमें अपना product खरीदने के लिए कहीं दूर बाज़ार में या भीड़ में जाने की जरूरत नहीं हम केवल घर बैठे ही अपना सामान माँगा सकते है|
  • E-commerce की एक win-win सिचुएशन बनाता है यानी इसमें business और consumer दोनों को बराबर फायदा होता है|
  • E-commerce के जरिये हम अपना सामान पूरी दुनिया में कही भी बेच सकते है या कही और के product को खरीद भी सकते है इसका बिस्तार केवल एक बाज़ार तक सिमित नहीं रह जाता|
  • E-commerce में आपको पेमेंट करने के लिए हमेशा hard cash हाथ में रखने की कोई जरूरत नहीं पेमेंट करने के लिए आप बड़ी ही आसानी से क्रेडिट और डेबिट कार का इस्तेमाल कर सकते है|
  • E-commerce websites पर products के बारे में कमेंट्स भी कुए जाते है जिससे हम लोगो की उस product के विषय में राय जान सकते है| साथ ही हम online आसानी से कई products को आसानी से compare कर सकते है|

E-Commerce से नुकसान (Disadvantages)-

  • इन पर shopping करने के लिए आपको इन्टरनेट की जानकारी होनी आवश्यक है|
  • इन्टरनेट पर आजकल कई फेक वेबसाइट भी आने लगी है इसलिए हमेशा shopping करने से पहले वेबसाइट के बारे में थोडा जानना पड़ता हैं|
  • नयी website और नए सेलर्स पर भरोषा नहीं किया जा सकता साथ ही अगर कोई अपनी e commerce वेबसाइट बनाना चाहता है सेलर्स के तौर पर तो इसमें हमें काफी पैसे की जरूरत होती है|
error: