वीडियो एडिटिंग में करियर कैसे बनाये Video Editor Career Opportunity

वीडियो एडिटिंग करियर कैसे बनाये

वीडियो एडिटिंग में कैसे बनाये करियरवीडियो एडिटिंग में करियर,जॉब प्रोफाइल- वीडियो एडिटर द्वारा किसी भी मोशन पिक्चर, केबल या ब्रॉडकास्ट विजुअल मीडिया इंडस्ट्री के लिए साउंडट्रैक, फिल्म और वीडियो का संपादन किया जाता है| वीडियो एडिटर का मुख्य कार्य अलग-अलग कई वीडियो को एक वीडियो बनाना, खराब दृश्यों में सुधार करना, साउंडट्रैक जोड़ना जैसे कार्य करनें होते है| वीडियो एडिटर जितना कुशल होगा उतना ही प्रोडक्ट गुणवत्तापूर्ण और उसको अच्छी डिलीवरी प्राप्त होगी| वीडियो एडिटर के लिए किसी औपचारिक शिक्षा नहीं होती है बस आपको आवश्यक कम्प्यूटर सिस्टम और प्रोग्राम की ट्रेनिंग होनी चाहिए|

वीडियो एडिटिंग में करियर,वीडियो एडिटर क्या है-

वीडियो एडिटर का मुख्य कार्य अलग-अलग कई वीडियो को एक वीडियो बनाना, खराब दृश्यों में सुधार करना, साउंडट्रैक जोड़ना जैसे कार्य करनें होते है उसे ही वीडियो एडिटर कहा जाता है|

वीडियो एडिटर कोर्स-

भारत के लगभग सभी प्रतिष्ठित फिल्म संस्थानों में वीडियो या फिल्म एडिटिंग का कोर्स करवाया जाता है, यह कोर्स सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा स्तर के होते है , इन कोर्स में फिल्म एडिटिंग में नॉन-लीनियर एडिटिंग, प्रोफेशनल एडिटिंग, कैमरा बेसिक्स, ग्राफिक्स और स्पेशल इफेक्ट टेक्नीक्स इत्यादि जानकारी देना होता है | वीडियो एडिटिंग के अंडरग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश के लिए छात्र को बारवीं की परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है, पीजी डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश के लिए उस संकाय में स्नातक होना अनिवार्य है, वीडियो एडिटर के असिस्टेंट के लिए केवल स्नातक होना चाहिए|

नॉन-लीनियर एडिटर-

नॉन लीनियर एडिटिंग के अंतर्गत एडिटिंग के कॉन्सेप्ट और उससे जुड़ी चीजों के विषय में बताया जाता है, इसमें फुटेज की कैप्चरिंग, फुटेज को एडिट करनें से लेकर किन विजुअल्स को कहां फिट करना है, म्यूजिक और साउंड को किस तरह मिक्स करनें की जानकारी प्रदान की जाती हैं|

वीडियो एडिटर में रोजगार के अवसर-

भारत में प्रत्येक वर्ष 1000 से भी अधिक फिल्मो का निर्माण होता है, इस संख्या को देखते हुए भारत को अधिक फिल्म बनानें वाले देशो कि श्रेणी में रखा जाता है, किसी भी फिल्म के निर्माण में उसकी एडिटिंग एक महत्वपूर्ण भूमिका रखती है, इसलिए कुशल वीडियों एडिटर कि मांग बढ़ती जा रही है, आप एक वीडियों एडिटर के रूप में फीचर या नॉन फीचर फिल्मों, डॉक्युमेंट्री, विज्ञापनों और टीवी कार्यक्रमों में रोजगार प्राप्त कर सकते है, फिल्म निर्माण के क्षेत्र में आप असिस्टेंट एडिटर से एडिटर के पद तक प्रोन्नति प्राप्त कर सकतें है, इसके अतिरिक्त आप किसी फिल्म स्कूल टेक्निकल स्कूल या यूनिवर्सिटी में पढ़ानें का कार्य कर सकते है|

वीडियो एडिटर के कार्य-

किसी भी फिल्म को बनानें में उसमे प्रयोग हुई रॉ फुटेज शूट के संपादन को एक अच्छे वीडियों एडिटर द्वारा कराया जाता है, आधुनिक वीडियो डिजिटल कैमरे के पहले फिल्म फुटेज को असली स्ट्रिप्स पर शूट किया जाता था, उस समय स्ट्रिप्स को हाथ से काटना पड़ता था और कई दृश्यों को एक साथ जोड़ना पड़ता था| एक वीडियो एडिटर को घंटो तक निर्देशक या निर्माता के साथ बैठकर रॉ फुटेज को देखना होता है, इसके बाद यह निर्धारित करना होता है कि किस दृश्य को रखना और किस दृश्य को हटाना है|

वीडियो एडिटर में रोजगार के क्षेत्र-

  • विज्ञापन / पोस्ट प्रोडक्शन स्टूडियो ,
  • फिल्म प्रोडक्शन, डिस्ट्रिब्यूशन,
  • कॉर्पोरेट एप्लायर (कॉर्पोरेट ट्रेनिंग वीडियो),
  • फिल्म, टीवी और म्यूजिक प्रोडक्शन,
  • फिल्म और टीवी की मार्केटिंग और डिस्ट्रिब्यूशन,
  • थियेटर संबंधी पर्सनल या फैमिली बिजनेंस आदि|

वीडियो एडिटर में वेतन-

फ्रेशर के रूप में आप इस क्षेत्र में 7,000 से 10,000 रुपये तक प्राप्त कर सकते है, दो से तीन साल के अनुभव के पश्चात आप 15,000 से 25,000 रुपये तक प्राप्त कर सकते है|