ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने Village Development in India Career Details

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बने Village Development in India Career Details-

ग्राम विकास अधिकारी कैसे बनेग्राम विकास अधिकारी कैसे बने,VDO ऑफिसर बनने के लिए क्या करे पूरी जानकारी- आज कल के समय में सभी लोग कोई ना कोई सपना बनाके चलते है और उस सपने को पूरा करने का जूनून भी रखते है| ग्राम विकास अधिकारी एक अराजपत्रित सरकारी कर्मचारी होता है, जिसे ग्राम प्रधान का सचिव कहा जाता है साथ ही इसे पंचायत सेवक भी कहा जा सकता है, वर्तमान समय में सरकार ने पंचायत सेवक के नाम को बदलकर ग्राम विकास अधिकारी (VDO) Village Development Officer कर दिया गया है,  ग्राम पंचायत अधिकारी और ग्राम विकास अधिकारी एक ही पद के दो नामो से जुडी हुई है| VDO ऑफिसर पंचायती राज विभाग का कर्मचारी होते है, ग्राम विकास अधिकारी एक महत्वपूर्ण पद है|

ग्राम विकास अधिकारी क्या है-

  • ग्राम विकास अधिकारी पंचायत सचिव एवं न्याय मित्र कहलाता है| ग्राम पंचायत के मुख्य जनप्रतिनिधि मुखिया, उपमुखिया, ग्राम पंचायत सदस्य, समिति, सरपंच व पंच आदि होते है|
  • ग्राम पंचायत सदस्य के अधिकार विभाजित होते है ताकि एक ग्राम पंचायत अच्छे (सुचारू) ढंग से कार्य कर सके|
  • ग्राम पंचायत गांव या छोटे शहर के स्तर पर पंचायती राज व्यवस्था के भारत में एक स्थानीय स्व-सरकारी संगठन का आधार है, और सरपंच अपने निर्वाचित प्रमुख के रूप में है|

योग्यता

  • ग्राम पंचायत अधिकारी यानी VDO बननें के लिए अभ्यर्थी को 12वीं पास होना आवश्यक है|
  • इसके साथ ही अभ्यर्थियों के पास CCC कम्प्यूटर कोर्स में डिप्लोमा का होना भी आवश्यक है|

आयु सीमा-

  • वीडीओ (VDO) की आयु सीमा लगभग 18 वर्ष से 40 साल तक के बीच में होनी चाहिए
  • और OBC अभ्यर्थियों को 3 साल तथा SC/ST अभ्यर्थियों को 5 साल की छूट दी जाती है|

चयन प्रक्रिया-

ग्राम पंचायत अधिकारी (Village Development Officer) के  पद के लिए अभ्यर्थियों को सेवा चयन आयोग द्वारा आयोजित परीक्षा में सम्मिलित होना होता है|

  • अभ्यर्थियों का चयन तीन चरणों के माध्यम से होता है- प्रथम चरण में अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा देनी होती है|
  • प्रथम चरण में में सफल अभ्यर्थियों को VDO यानी ग्राम पंचायत अधिकारी परीक्षा की द्वितीय चरण यानी साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है तथा तृतीय चरण के अंतर्गत शारीरिक योग्यता की जाँच परीक्षा होती है|
  • लिखित परीक्षा एवं साक्षात्कार में सफल अभ्यर्थियों को शारीरिक योग्यता जाँच परीक्षा के लिए बुलाया जाता है, जिसमें शारीरिक व्यायाम, 1 मील दौड़, लम्बी कूद, 4 मील सायकिल रेस एवं 2 मील टहलना आदि सम्मिलित होते है|
  • लिखित परीक्षा के लिए एक घंटे तीस मिनट का समय प्राप्त होता है, जिसमें 30 अंक के 30 प्रश्न हिंदी और लेखन क्षमता से सम्बन्धित होंगे, 20 प्रश्न जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट के, और 30 प्रश्न सामान्य जागरूकता से सम्बन्धित होंगे और साथ ही  साक्षात्कार के लिए 20 अंक निर्धारित किये हुए होते है|

कार्य-

  • पंचायत सचिव के कार्य- VDO (ग्राम पंचायत का अधिकारी) पंचायत सचिव को पंचायत कार्यालय का प्रभारी कहा जाता है साथ ही यह पंचायत कार्यालय संबंधित कामों को देखते है| जिनमें सरकारी योजनाओं का लेखा जोखा देखना और रखना दोनों ही शामिल होते है| पंचायत के जनप्रतिनिधि द्वारा पास किया बजट और उनके कागजात संबंधी कामों को भी पंचायत सचिव ही देखते है|
  • न्याय मित्र के कार्य- न्याय संबंधित कार्यों की जिम्मेदारी सरपंच व पंच की होती है परंतु उनकी कागजी कार्रवाई एवं लेखा जोखा का कार्य न्याय मित्र का होता है जिसे न्याय सहायक के तौर पर देखा जा सकता है|

ग्राम पंचायत सदस्य के अधिकार-

  • पूँजी कोष की जिम्मेदारी मुखिया की होती है,
  • बैठकों का कार्य-व्यवहार संभालना और उनमें अनुशासन बनाए रखना,
  • एक वर्ष समय में ग्राम सभा की कम से कम चार बैठकों का आयोजित करना,
  • विभिन्न निर्माण कार्यों को लागू करना और फीसों की वसूली करवाना आदि शामिल है,
  • ग्राम सभा व ग्राम पंचायत की बैठकों का आयोजित करना और उनकी अध्यक्षता करना,
  • ग्राम पंचायत द्वारा पास की गई कार्य योजनाओं और प्रस्तावों का लागू करवाना,
  • नियमानुसार रखी गई विभिन्न रजिस्टरों व पंचायत संबंधी कागजात के रख-रखाव का इंतजाम करना,
  • ग्राम पंचायत में कार्य करते कर्मचारियों की देख रेख से लेकर दिशा निर्देश व नियंत्रण करना मुखिया के कार्य क्षेत्र में शामिल है आदि|

सैलरी-

  • वीडीओ (Village Development Officer) यानी Gram Vikas Adhikari पद की सैलरी लगभग ₹5200 से ₹20200 रुपये प्रतिमाह तक के बीच में होती है और दूसरा इसके साथ-साथ अन्य सरकारी सुविधाएँ भी मिलते है|
error: