रक्षाबंधन क्या है राखी बांधने का शुभ मुहूर्त जाने Raksha Bandhan 26 august 2018 Sunday

रक्षाबंधन कब और कैसे मनाये डेट टाइम Wishes for Raksha Bandhan 2018 Rakhi Date Time and Muhurat

रक्षाबंधन रक्षाबंधन क्या है राखी बांधने का शुभ मुहूर्त जाने- रक्षा बंधन हिन्दुओं का प्रसिद्द त्यौहार में से एक है| रक्षा बंधन को ही ‘राखी’ का त्यौहार कहते हैं| यह श्रावण माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है| रक्षा बंधन सम्पूर्ण भारतवर्ष में अत्यंत हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है| रक्षाबंधन केवल एक त्योहार नहीं बल्कि हमारी परंपराओं का प्रतीक है| हमारे देश में इसका बड़ा महत्त्व है| रक्षा बंधन के दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधती हैं एवं भाइयों के प्रति अपना प्रेम प्रदर्शित करती हैं| भाई इस अवसर पर अपनी बहन को उपहार देते हैं एवं बहन की रक्षा/ सुरक्षा का वचन देते हैं|

रक्षाबंधन शुभ मुहूर्त Raksha Bandhan 2018 Shubh Muhurat

  1. भद्रा समाप्त- सूर्योदय से पहले
  2. रक्षा बंधन 2018 राखी बांधने का शुभ मुहूर्त- सुबह 05:59 से शाम 5:25 तक
  3. मुहूर्त की अवधि- 11 घंटे 26 मिनट
  4. रक्षा बंधन में अपराह्न मुहूर्- 01:39 से 4:12 तक
  5. मुहूर्त की अवधि : 02 घंटे 33 मिनट

रक्षाबंधन कब मनाया जाता है How to Celebrate Raksha Bandhan-

Raksha Bandhan जो कि भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार है, सावन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है| रक्षा बंधन इस साल 26 अगस्त (रविवार) को मनाया जाएगा|

रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है ख़ास वजह Celebrate Rakhi Festival 2018-

श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला यह पावन पर्व हर भाई-बहन के लिए बेहद खास महत्व रखता है| रक्षाबंधन के दिन बहन अपने छोटे और बड़े भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र यानि की राखी बांधकर अपनी सुरक्षा का वचन मांगती है|

बहन भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधने के बाद उसके माथे पर तिलक लगाकर आरती करती है साथ ही हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार ऐसा करने से भाई-बहन का रिश्ता अटूट और काफी अच्छा हो जाता है| एक भाई अपनी बहन के लिए और उसकी सुरक्षा साथ ही खुशियों के लिए हमेशा तैयार रहता है|

राखी बांधने का शुभ मुहूर्त Raksha Bandhne Ka Shubh Muhurat 2018

  1. वैसे तो भाई की कलाई पर राखी बांधने का कोई भी समय अशुभ नहीं होता लेकिन शास्त्रों में हर शुभ काम के लिए एक शुभ मुहूर्त का निर्धारण किया जाता ही है|
  2. साथ ही भाई की दीर्घायु और खुशियों की कामना एक शुभ मुहूर्त में की जाए तो सारे कष्ट दूर होते हैं| इस साल 2018 26 अगस्त (रविवार) को सुबह 05:59 से सायंकाल 17:25 तक राखी बांधने का मुहूर्त शुभ है|

भद्राकाल में क्यों नहीं बांधी जाती है राखी Rakhi Raksha Bandhan Festival Tips In Hindi

भूखे पेट रहने के अलावा रक्षाबंधन का एक खास नियम यह भी है कि भद्राकाल में राखी नहीं बांधी जाती है| इस साल राखी की सबसे खास बात यह है कि भद्राकाल का समय सूर्य के उदय होने से पहले ही समाप्त हो जाएगा|

रक्षाबंधन के लिए पूजा की थाली कैसे तैयार करे Decorate Pooja Thali for Raksha Bandhan Festival-

रक्षा बंधन के इस पवित्र त्योहार पर बहनें सुबह उठकर सबसे पहले स्नानादि के बाद नए कपड़े पहनती हैं और फिर पीतल की थाली में राखी, कुमकुम, हल्दी, चावल के दाने और मिठाई रखती हैं| पूजा की थाली तैयार करने के बाद बहन, भाई की पूजा करती हैं|

  1. सबसे पहले बहनें भाई को तिलक कर भाई की आरती करती है| उसके बाद उस पर अक्षत फेंकते हुए मंत्र पढ़ती हैं और फिर उनकी कलाई को रेशम के धागे से सजाते हुए अपने भाई का मुंह मीठा करवाती है|

भाई और बहन पूजा तक रहते हैं भूखे Brothers and sisters remain hungry till worship-

  1. रक्षा बंधन की पूजा तक भाई और बहन को भूखे पेट रहना आवश्यक होता है माना जाता है कि खाली पेट पूजा करने से भाई और बहन की पूजा सफल होती है|
  2. साथ ही जो वादे किए जाते हैं वो हमेशा पूरे होते हैं| राखी की रस्म निभाने के बाद भाई या बहन दोनों में से जो भी छोटा होता है उसे आशीर्वाद लेना बहुत जरूरी होता है|

FAQ-

प्रश्न– हैप्पी रक्षाबंधन कितनी तारीख को मनाया जाएगा?

उत्तर– रक्षाबंधन इस साल तारीख 26 अगस्त (रविवार) 2018 को मनाया जाएगा|

प्रश्न– रक्षाबंधन कब मनाया जाता है?

उत्तर– Raksha Bandhan जो कि भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार है, सावन मास की पूर्णिमा को मनाया जाता है|

प्रश्न– रक्षाबंधन 2018 राखी बांधने का शुभ मुहूर्त क्या है?

उत्तर– रक्षाबंधन 2018 राखी बांधने का शुभ मुहूर्त सुबह 05:59 से शाम 5:25 तक का है|

प्रश्न– रक्षा बंधन त्यौहार से पहले भद्रा समाप्त कब होगा?

उत्तर– रक्षा बंधन त्यौहार से पहले भद्रा समाप्त सूर्योदय से पहले है|

प्रश्न– रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है?

उत्तर– रक्षाबंधन श्रावण मास की पूर्णिमा को मनाया जाने वाला यह पावन पर्व हर भाई-बहन के लिए बेहद खास महत्व रखता है| रक्षाबंधन के दिन बहन अपने छोटे और बड़े भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र यानि की राखी बांधकर अपनी सुरक्षा का वचन मांगती है|

error: