परीक्षा की तैयारी करने के जबरदस्त आसान तरीके/ Exams Preparation

कैसे करे एग्जाम की तैयारी जॉबआईसर्च इनआज के पढ़ाई के दौर में हर कोई आगे बढ़ना चाहता है, हर बच्चा यही चाहता है की वो सबसे अच्छे नंबर लाये अपनी कक्षा में फर्स्ट आए पर ऐसा बहुत कम होता है. आप में से बहुत से लोग ऐसे होते है जो पुरे  साल भर बहुत मेहनत करते हैं दिन रात एक कर देते हैं अच्छे से अच्छे नंबर लाने के लिए पर आपके दिन रात एक करने के बाद भी आपको अच्छे से पढ़ा हुआ याद नहीं हो पाता और ऐसा अक्सर लगभग सभी के साथ होता है परीक्षा के दिन नजदीक आते ही युवाओं के दिल की धड़कने बढ़ने लग जाती हैं और कई लोग तो पुरे साल भर का पड़ा हुआ परीक्षा कक्षा में जाते ही भूल जाते हैं और आपके पुरे साल भर उतनी मेहनत करने के बाद भी आप परीक्षा में अच्छे नंबर नहीं ला पाते हैं यहाँ पर हम आपको परीक्षा की अच्छे से तैयारी करने के कुछ आसान तरीके बताएंगे जिससे आपको परीक्षा की तैयारी करने में बहुत आसानी होगी.

पढ़ा हुआ लम्बे समय तक याद रखने के तरीके 

अपने टेस्ट्स और असाइनमेंट्स को तैयार करें (Prepare your tests and assignments)-

यह बहुत अच्छा तरीका है परीक्षाओं में तैयारी करने का जो आपके पहले क्लास टेस्ट व असाइनमेंट्स हुए हैं उनमे से सभी टेस्ट पेपर्स व असाइनमेंट्स की दुबारा अच्छे से तैयारी करें क्योंकि बहुत बार ऐसा होता हैं कि आपके उन्ही पुराने टेस्ट पेपर्स में से ही कोई प्रश्न आ जाता है. उन पुराने असाइनमेंट्स व टेस्ट्स के सभी प्रश्न उत्तरो को एक एक करके ध्यान से पड़े और समझ कर याद करने कि कोशिश करें और अगर आपको उन्हें याद करने या समझने में कोई परेशानी आए तो अपने टीचर्स या किसी सीनियर बुद्धिमान बच्चे से उसके बारे में बात करें और उनसे अच्छे से उस प्रश्न का हल पूछे. पुराने टेस्ट पेपर्स व असाइनमेंट्स से परीक्षा में बहुत मदद मिलती है.

पिछले साल के प्रश्न पत्रों कि तैयारी करें (Last year’s question papers preparation)-

टेस्ट्स,असाइनमेंट्स की तैयारी करने के बाद आप पिछले सभी पुराने टेस्ट पेपर्स को इकठ्ठा करके रोज एक -एक टेस्ट पेपर की अच्छे से तैयारी करें. पिछले सालो के पेपर्स को देखकर आपको अंदाजा आ जायेगा की आपके पेपर में कैसे प्रश्न आएंगे कौनसे प्रश्न कितने नंबर के होंगे. सभी पेपर्स के प्रशनो को ध्यान से पड़े व समझे और हाँ सबसे जरुरी बात यह है की पड़ते समय आपके दीमाक में किसी भी प्रकार का दबाव नहीं होना चाहिए नहीं तो आपको बिलकुल भी पड़ा हुआ याद नहीं होगा और ना ही आप समझ पाएंगे.

समूह अध्ययन (Group discussion)-

समूह अध्ययन का मतलब है की अपने दोस्तों के साथ एक जगह बैठकर पढ़ाई करना. ग्रुप डिस्कसन आपको परीक्षा की तैयारी करने में बहुत ममद करता है. अगर आपको कोई प्रश्न समझ नहीं आ रहा है या पढ़ाई में कहीं पर समस्या हो रही है तो आप ग्रुप डिस्कसन में अपने दोस्तों से उस बारे में पूछ सकते है और वो भी आपसे प्रश्न पूछेंगे इससे आपको पड़ने में बहुत मदद मिलेगी पर ग्रुप डिस्कसन करते समय एक बात का ध्यान दे की पढ़ाई करते हुए आप किसी खेल में ना लग जाए जिससे आपको पढ़ाई में बाधा हो सकती है.

रिवीजन करें (Do revision)-

 रिविज़न परीक्षा की तैयारी करने का सबसे अच्छा तरीका है, आपने पुरे साल भर जो कुछ भी पड़ा है एक बार परीक्षा से पहले सभी विषयों का अच्छी प्रकार से रिविज़न कर लें आपने पुरे साल में जो कुछ भी पड़ा है उनके छोटे छोटे नोट्स बना लें जिससे आप उन्हें कभी भूल नहीं पाएंगे और आपको याद रखने में आसानी होगी.एक बात हमेशा से याद रखे कुछ भी नया पड़ने से पहले पुराना पड़ा हुआ अच्छे से याद करले व समझ लें. नहीं तो नए टॉपिक को पड़ने के चक़्कर में आप पुराना पड़ा हुआ भी भूल जायेंगे.

बराबर आराम करें (take proper rest)-

 जैसा की यह आम बात है की परीक्षा के समय में हर बच्चे के दीमाक में 80 प्रतिशत दबाव होता है, जिससे आपको अच्छे से कुछ भी याद नहीं हो पाता है और पढ़ा हुआ भी आप भूलने लगते हैं. जब आपकी पेपर की पूरी तैयारी हो जाए तो आप थोड़ा सा आराम करें जैसे कहि घूमने चले जाए या अपने परिवार के साथ थोड़ा समय बिताएं जिससे आपका दिमाक थोड़ा फ्री हो जाए. इस बात का जरूर ध्यान दे की आपके दिमाक पर ज्यादा दबाव नहीं पड़ना चाहिए नहीं तो आप कुछ भी अच्छे से पढ़ नहीं पाएंगे.