पटवारी कैसे बने पटवारी (लेखपाल) के कार्य Who is Patwari and their works

पटवारी किसे कहते हैं (What is Patwari) –

पटवारी कैसे बने जॉबआईसर्च इनपटवारी राजस्व विभाग (Revenue Department) का कार्यकर्त्ता (Employee) होता है। इन्हें भिन्न-भिन्न  स्थानों में भिन्न-भिन्न नामों से भी जाना जाता है जैसे – पटेल (Patel), कारनाम अधिकारी (Exploits officer), शानबोगरु (Shanbogru) आदि।

पटवारी भारतीय उपमहाद्वीप (Indian subcontinent) के ग्रामीण क्षेत्रों (Rural Areas) में सरकार का प्रशासनिक (Administrative) पद होता है. पटवारी को लेखपाल भी कहा जाता है.

कैसे करे पटवारी परीक्षा की तैयारी जानिए हिंदी में 

पटवारी के कार्य (Work Of Patwari) –

पटवारी ग्राम स्तर पर एक कर्मचारी होता है. जिसके क्षेत्र में एक या एक से अधिक गांव आते है. तथा पटवारी इन गावो की भूमि का पूर्ण विवरण रखते है. जैसे – एक किसान के पास कितनी भूमि है, इस पर लगाम क्या है व् भूमि किस किस्म की है. यह सब जानकारी पटवारी रखता है.

  1. किसी भूमि का क्रय विक्रय पटवारी (लेखपाल) की सहायता द्वारा ही संपन्न होता है.
  2. पटवारी राजस्व अभिलेखों को अपडेट रखता है.
  3. पटवारी भूमि का आवंटन करता है.
  4. पटवारी आपदाओ के दौरान, आपदा प्रबंधन अभियानों में सक्रिय रूप से अपना सहयोग देता है.
  5. पटवारी एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी के खेतो के हस्तांतरण का कार्य करता है.
  6. पटवारी राष्ट्रीय कार्यकर्मो में भी सहयोग के साथ साथ कृषि गढ़ना, पशु गरणा, तथा अन्य आर्थिक सर्वेक्षण में सहयोग देते है.
  7. पटवरी विकलांग पेंसन, वृद्धवस्था, आय व् जाति प्रमाण पत्र बनवाने में आवेदको की सहायता करता है.

पटवारी पद के लिए शैक्षिक योग्यता (Educational Qualification for Patwari Post) –

पटवारी पद के लिए आवेदन करने हेतु उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय से 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण  करना अनिवार्य होता है. अतः उम्मीवार इंटरमीडिएट के बाद ही पटवारी पद के लिए आवेदन कर सकता है तथा साथ में उम्मीदवार को कंप्यूटर की बेसिक जानकारी (Basic Knowledge of computer) होनी आवश्यक है.

पटवारी पद के लिए मासिक वेतन (Monthly income for Patwari Post) –

पटवारी पद पर कार्यरत उम्मीदवार की आय Rs. 5200 – 20200 /- प्रति माह होती है.

पटवारी पद के लिए उम्र सीमा (Age Limit for Patwari Post) –

पटवारी पद के लिए उम्मीदवार की न्यूनतम आयु 18 वर्ष तथा अधिकतम आयु 38 वर्ष होनी चाहिए.

पटवारी पद से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न व् उनके उत्तर –

प्रश्न – पटवारी प्रणाली की शुरूआत सर्वप्रथम किस  शासनकाल के दौरान हुई?

उत्तर – पटवारी प्रणाली की शुरूआत सर्वप्रथम शेर शाह सूरी के शासनकाल के दौरान हुई तथा बाद में अकबर ने इस प्रणाली को बढ़ावा दिया।

प्रश्न – उत्तराखंड में पटवारी को किस नाम से जाना जाता है?

उत्तर – उत्तराखंड में पटवारी को राजस्व पुलिस के नाम से जाना जाता है.

प्रश्न – पंजाब में पटवारी को किस नाम से जाना जाता है?

उत्तर – पंजाब में पटवारी को ‘पिंड दी मां’ (गांव की मां) भी कहा जाता है.

प्रश्न – राजस्थान पटवारी के लिए आयु सीमा कितनी होनी चाहिए?

उत्तर – राजस्थान पटवारी के लिए आयु सीमा 18 – 30 वर्ष होनी चाहिए.

प्रश्न – प्राचीन समय में राजस्थान में पटवारियों को क्या कहा जाता था?

उत्तर – प्राचीन समय में राजस्थान में पटवारियों को ‘हाकिम साहब कहा जाता था.

प्रश्न – पटवारी का अन्य नाम क्या है?

उत्तर – पटवारी का अन्य नाम लेखपाल है.

प्रश्न – मध्य प्रदेश पटवारी के लिए आयु सीमा कितनी होनी चाहिए?

उत्तर – मध्य प्रदेश पटवारी के लिए आयु सीमा 18 – 35 वर्ष होनी चाहिए.

प्रश्न – हिमांचल पटवारी के लिए आयु सीमा कितनी होनी चाहिए?

उत्तर – हिमांचल पटवारी के लिए आयु सीमा 18 – 38 वर्ष होनी चाहिए.

प्रश्न – पटवारी पद के लिए उम्मीदवार का चयन किस पर आधारित होता है?

उत्तर – पटवारी पद के लिए उम्मीदवार का चयन लिखित परीक्षा पर आधारित होता है.

error: