2018 पद्म पुरस्कार विजेता लिस्ट List of 2018 Padma Awards Winners

2018 पद्म पुरस्कार घोषण 3 विभूषण 9 भूषण 73श्री 2018 Padma Awards Announcement

2018 पद्म पुरस्कार PADMA AWARD WINNER 20182018 पद्म पुरस्कार की घोषणा कर दी गयी है | 2018 पद्म पुरस्कार (Padma Award GK) भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक हैं। पद्मा का अर्थ संस्कृत भाषा में “कमल” होता है। इसे तीन श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है-पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री।प्रत्येक वर्ष, भारत सरकार द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में उनके योगदान के लिए गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर विभिन्न व्यक्तियों का सम्मान करती है |

यह पुरस्कार विभिन्न फील्ड के लिए दिए जाते है जैसे -कला, साहित्य और शिक्षा,खेल ,दवा,सामाजिक कार्य, विज्ञान और इंजीनियरिंग ,सार्वजनिक मामलों,सिविल सेवा, व्यापार और उद्योग इत्यादि| राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने वर्ष 2018 पद्म पुरस्कार के प्राप्तकर्ताओं के नमो की घोषणा की है। उन्होंने 85 लोगों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया | भारत रत्न पुरस्कार सरकार द्वारा आम लोगों को दिए जाने वाला “सर्वोच्च राष्ट्रीय नागरिक पुरस्कार” है।भारत रत्न पुरस्कार विज्ञान, कला, साहित्य और सार्वजनिक सेवाओं जैसे विभिन्न क्षेत्रों में उनके अच्छे काम के लिए लोगों को दिया जाता है। खेल नवीनतम श्रेणी है जिसे वर्ष 2013 में संशोधन करके खेतों की सूची में जोड़ा गया है। संशोधन के बाद सचिन तेंदुलकर को खेल श्रेणी में पुरस्कार दिया गया था। भारत रत्न पुरस्कार प्राप्त करने वाले सचिन भी सबसे कम उम्र के व्यक्ति हैं। हम आपको 2018 पद्म पुरस्कार की महत्वपूर्ण GK प्रदान करेंगे ,व सभी पुरस्कारों से जुडी करंट अफेयर्स 2018 यहाँ पर उपलब्थ करेंगे.

2018 पद्म पुरस्कार विनर करंट अफेयर Padma Award 2018 Winner Current Affairs –

यहाँ पर हम आपको पद्म अवार्ड की पूरी लिस्ट प्रदान करेंगे जो की प्रतियोगिता परीक्षा में आपके काम आएगी|ये निम्न प्रकार है –

पद्म विभूषण पुरस्कार 2018 विजेता Padma Vibhushan 2018 Awards Winners

पद्म विभूषण पुरस्कार भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है | पद्म पुरस्कार सर्कल पर लगाए गए ज्यामितीय पैटर्न के साथ परिपत्र (Circular) आकार में रहता है। सर्कल का व्यास 4.4 सेमी है, मोटाई 0.6 मिमी है। पद्म विभूषण पुरस्कार के सामने की ओर एक कमल फूल उभरा है और कमल के शीर्ष पर देवनागरी लिपि में “पद्मा” लिखा गया है और कमल प्रतीक के नीचे देवनागरी में “विभूषण” लिखा गया है।पुरस्कार के पीछे की ओर राज्य के प्रतीक की संरचना है और प्रतीक “सत्य मेवा जयते” के नीचे देवनागरी लिपि में लिखा गया है। यह कांस्य का होता है। सजावट के लिए दोनों किनारों पर सफेद सोने के साथ एम्बॉसिंग किया जाता है।

  1. श्री गुलाम मुस्तफा खान (महाराष्ट्र) को कला और संगीत में उनके योगदान के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित और 1991 में पद्मश्री और 2006 में पद्म भूषण से नवाजा गया था। ।
  2. श्री इलैयाराज (तमिलनाडु) को कला और संगीत में योगदान के लिए सम्मानित और 2010 में पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया है।
  3. श्री परमेश्वरन (केरल) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है। ।

पद्म भूषण पुरस्कार 2018 विजेता Padma Bhushan 2018 Awards Winners –

पद्म भूषण पुरस्कार भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है| पद्म भूषण पुरस्कार की संरचना और डिजाइन लगभग पद्म विभूषण के समान ही होता , कुछ चीजों को छोड़कर, दोनों पक्षों पर उभरा हुआ मानक सोने के साथ किया जाता है।

1.श्री पंकज आडवाणी (कर्नाटक) को खेल-बिलियर्ड्स / स्नूकर में उनके योगदान के लिए के लिए पद्म भूषण से सम्मानित हुए है।

2.श्री फिलिपोंस क्रिसोस्टम (केरल) को आध्यात्मिकता में उनके योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित हुए है।

3.श्रीमहेंद्र सिंह धौनी (झारखंड) को खेल क्रिकेट में उनके योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित हुए है।

4.श्री अलेक्जेंडर कडाकिन (विदेशी / मरणोपरांत) को दोनों देशों के संबंधों को प्रोत्साहन देने का काम किया, जिसके लिए इन्हे सम्मानित किया गया |

5.श्री रामचंद्रन नागास्वामी (तमिलनाडु) को पुरातत्व में उनके योगदान के लिए पद्म भूषण से सम्मानित हुए है।

6.श्री वेद प्रकाश नंदा (संयुक्त राज्य अमेरिका)साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया |

7.श्री लक्ष्मण पाई (गोवा) को कला-चित्रकारी में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।

8.श्री अरविंद परीख (महाराष्ट्र) को कला-संगीत में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया |

9.सुश्री शारदा सिन्हा (बिहार) को कला-संगीत में उनके योगदान के लिएशारदा सम्मानित किया गया और 1991 में पद्मश्री दिया गया ।

पद्म श्री पुरस्कार 2018 विजेता Padma Shri 2018 Awards Winners –

पद्म श्री अवार्ड्स पुरस्कार भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है | अन्य पुरस्कारों की तरह पद्मश्री को भी भारतीय नागरिकों को दिया जाता है। हालांकि कुछ मामलों में इसे गैर-भारतीय नागरिकों को विभिन्न तरीकों से भारत में उनके बहुमूल्य योगदान के लिए भी सम्मानित किया जाता है। पद्मश्री पुरस्कार, पद्म भूषण और पद्म बिभूषण के समान दिखता है, जो केंद्र में कमल के साथ कमल के साथ दिखता है। देवनागरी में “पद्म” कमल के शीर्ष पर लिखा गया है और “श्री” नीचे (देवनागरी) में लिखा गया है। सभी एम्बॉसिंग स्टेनलेस स्टील का है।

  1. श्री विक्रम चंद्र ठाकुर (उत्तराखंड) को विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  2. श्री विजय किचलू (पश्चिम बंगाल) को कला-संगीत के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  3. श्री सुधांशु विश्वास(पश्चिम बंगाल) को उनके सामाजिक कार्य के लिए सम्मानित किया गया।
  4. श्री कृष्ण बिहारी मिश्रा (पश्चिम बंगाल ) को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  5. श्री अमितव राय (पश्चिम बंगाल ) को विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  6. सुश्री सुभाषिनी मिस्त्री (पश्चिम बंगाल) को उनके सामाजिक कार्यो के लिए सम्मानित किया गया ।
  7. सुश्री लक्ष्मी कुट्टी (केरल) को पारंपरिक चिकित्सा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  8. सुश्री जॉयश्री गोस्वामी महंत (असम ) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  9. श्री नारायण दास महाराज(राजस्थान) को आध्यात्मिकता में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  10. श्री जवरीलाल मेहता (गुजरात ) को साहित्य, शिक्षा और पत्रकारिता में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  11. श्री सिसिर पुरुषोत्तम मिश्रा (महाराष्ट्र) को कला-सिनेमा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  12. श्री मुरलिकांत पेटकर (महाराष्ट्र) को खेल-तैरने (swimming ) में उनके योगदान के लिए के सम्मानित किया गया।
  13. श्री सम्पत रामटेके ,मरणोपरांत(महाराष्ट्र) को उनके सामाजिक कार्यो के लिए सम्मानित किया गया ।
  14. श्री मनोज जोशी (महाराष्ट्र ) को आर्ट-एक्टिंग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  15. श्री अभय बैंग और सुश्री रानी बैंग (महाराष्ट्र) को मेडिसिन के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  16. सुश्री रानी बैंग (महाराष्ट्र) को मेडिसिन के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  17. श्री रामेश्वरवाल काबरा (महाराष्ट्र) को व्यापार और उद्योग में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  18. श्री पनातावेन गंगाधर विठोबाजी(महाराष्ट्र) को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  19. श्री अरविंद गुप्ता (महाराष्ट्र) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  20. श्री केशव राव मुसलगांवकर (मध्य प्रदेश) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  21. सुश्री माल्ती जोशी (मध्य प्रदेश) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  22. श्री भजजू श्याम (मध्य प्रदेश) को कला-चित्रकारी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  23. श्री बाबा योगेंद्र (मध्य प्रदेश) को कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए के सम्मानित किया गया।
  24. सुश्री वी नानामल (तमिलनाडु) को योग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए के सम्मानित किया गया।
  25. सुश्री विजयलक्ष्मी नवनीथकृष्णन (तमिलनाडु ) को कला-लोक संगीत में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  26. श्री रोमुलस विथेकर (तमिलनाडु ) को वन्यजीव संरक्षण के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  27. श्री राजगोपालन वासुदेवन (तमिलनाडु) को विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  28. श्री गोवर्धन पानिका (ओडिशा) को कला-बुनाई में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  29. श्री भबानी चरण पटनायक (ओडिशा) को सार्वजनिक मामलों में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  30. श्री प्रवराकर महाराणा (ओडिशा) को कला-मूर्तिकला में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  31. श्री चंद्रशेखर रथ(ओडिशा) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  32. श्री एस एस राठौर (गुजरात) को सिविल सेवा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  33. श्री पंकज एम शाह (गुजरात) को मेडिसिन-ओन्कोलॉजी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  34. सुश्री सुलागित्ती नरसाम्मा (कर्नाटक) को उनके सामाजिक कार्य के लिए सम्मानित किया गया।
  35. श्री आर सत्यनारायणा (कर्नाटक ) को कला-संगीत के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  36. श्री इब्राहिम सुतार (कर्नाटक ) को आर्ट-म्यूजिक के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया |
  37. श्री सिद्धेश्वर स्वामीजी(कर्नाटक ) को आध्यात्मिकता में उनके योगदान के लिए 2018 पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया|
  38. श्री रुद्रपतिम नारायणस्वामी थरणथानऔर श्री रुद्रपत्तनम नारायणस्वामी त्यागराजन (कर्नाटक) को आर्ट-म्यूजिक के क्षेत्र में योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  39. श्री डोड्डारेंज गौड़ा (कर्नाटक) को कला-गीत में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  40. सुश्री सीताव्वा जोड़ती (कर्नाटक) को अपने सामाजिक कार्य के लिए सम्मानित किया गया।
  41. श्री भागीरथ प्रसाद त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश) को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  42. श्री मोहन स्वरुप भाटिया(उत्तर प्रदेश) को आर्ट-लोक संगीत के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए के सम्मानित किया गया।
  43. श्री अनवर जलालपुरी,मरणोपरांत(उत्तर प्रदेश) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया |
  44. श्री प्रफुल्ल गोविंद बरुआ (असम) को साहित्य, शिक्षा और पत्रकारिता के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया |
  45. श्री अरुप कुमार दत्ता(असम) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  46. श्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी (छत्तीसगढ़) को साहित्य, शिक्षा और पत्रकारिता में उनके विरोध के लिए सम्मानित किया गया।
  47. श्री दामोदर गणेश बापट (छत्तीसगढ़) को सामाजिक कार्य के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  48. सुश्री सैखोम मिराबाई चानू (मणिपुर) को स्पोर्ट्स-वेटलिफ्टिंग में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  49. सुश्री लैंगपोक्लक्कम सुबदानी देवी(मणिपुर) को कला-बुनाई में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  50. श्री सोमदेव देववर्मन (त्रिपुरा) को खेल-टेनिस में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  51. श्री ए जाकिया(मिजोरम) को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  52. श्री मानस बिहारी वर्मा (बिहार ) को विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  53. श्री येशी धोडें ( हिमाचल प्रदेश) को चिकित्सा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  54. श्री महाराव रघुवीर सिंह (राजस्थान) को साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए 2018 पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया |
  55. श्री किदंबी श्रीकांत (आंध्र प्रदेश) को खेल-बैडमिंटन में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  56. सुश्री लेंटिना एओ ठक्कर (नागालैंड) को उनके सामाजिक कार्यो के लिए सम्मानित किया गया|
  57. श्री दिगंबर हंसदा (झारखंड ) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  58. श्री पियोंग तेमजें जमीर (नागालैंड) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  59. श्री एम आर राजगोपाल (केरल) को मेडिसिन-पेलियेटिव केयर के क्षेत्र में योगदान के लिए सम्मानित किया गया |
  60. श्री प्राण किशोर कॉल (जम्मू-कश्मीर ) को कला में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  61. श्री सन्दुक रुइट,विदेशी (नेपाल) को मेडिसिन-ओप्थाल्मोलॉजी के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  62. श्री बोनुलाप कोकांग,विदेशी (लाओस) को आर्किटेक्चर के क्षेत्र में उनके योगदान के सम्मानित किया गया।
  63. श्री जोसेमा जोए कॉन्सेप्सीन III ,विदेशी (फिलीपींस ) को व्यापार और उद्योग में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया ।
  64. श्री रामली बिन इब्राहिम ,विदेशी (मलेशिया) आर्ट-डांस के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  65. श्री न्गुयेन टिन टिन,विदेशी (वियतनाम ) को आध्यात्मिकता के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया|
  66. श्री हबीबुल्लो राजबाव,विदेशी (ताजिकिस्तान) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  67. श्री मालाई हाजी अब्दुल्ला ,विदेशी और बिन मालाई हाजी ओथमान ,विदेशी (ब्रुनेई) को उनके सामाजिक कार्यो के लिए सम्मानित किया गया।
  68. श्री आई नोमान नुआरात,विदेशी (इंडोनेशिया) को कला-मूर्तिकला में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  69. श्री थांत म्यिंट यु,विदेशी (म्यांमार) को सार्वजनिक मामलों में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  70. श्री तोमिओ मिज़ोकमी,विदेशी (जापान) को साहित्य और शिक्षा में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  71. श्री हुन मानि,विदेशी (कंबोडिया) को सार्वजनिक मामलों में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  72. सुश्री नौफ़ मरवाई,विदेशी (सऊदी अरब) को योग में उनके योगदान के लिए 2018 पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।
  73. श्री सोमडेट फ्रा महा मुनिओंग,विदेशी (थाईलैंड) को आध्यात्मिकता के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
  74. 2018 पद्म पुरस्कार की सूची में 3 पद्म विभूषण, 9 पद्म भूषण और 73 पद्मश्री पुरस्कार विजेता शामिल हैं। 14 पुरस्कार महिलाओं को, 16 पुरस्कार विदेशी, एनआरआई, पीआईओ जबकि 3 मरणोपरांत पुरस्कार विजेता हैं। सूची में असंगत व्यक्तियों और उन लोगों को भी शामिल किया गया है जिन्होंने जमीनी स्तर पर निःस्वार्थ सेवा प्रदान की है। उन सभी को से 2018 पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया |