कौनसी परीक्षाएं पास करनी हैं जरुरी टीचर बनने के लिए What are the exams necessary become teacher

कुछ परीक्षाएं जिन्हें पास करने के बाद आप टीचर बन सकते हैं some exams After passing , you can become a teacher

%e0%a4%9f%e0%a5%80%e0%a4%9a%e0%a4%b0-%e0%a4%ac%e0%a4%a8%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f-%e0%a4%95%e0%a5%8b%e0%a4%a8%e0%a4%b8%e0%a5%80-%e0%a4%aa%e0%a4%b0%e0%a5%80अगर आप टीचर बनना चाहते हैं तो उसके लिए सिर्फ कोर्स करना ही जरुरी नहीं बल्कि साथ ही कुछ परीक्षाएं पास करनी जरुरी होती हैं जिन्हें पास करने के बाद आप टीचर बन सकते हैं, उन परीक्षाओं के बारे में कुछ लोगो को तो जानकारी है पर कुछ लोग ये सोचते हैं कि सिर्फ कोर्स करने के बाद बिना किसी परीक्षा को पास किये टीचर बन सकते हैं.

Advertisements

जी नहीं कुछ परीक्षाएं होती हैं जो आपको पास करनी होती हैं. यहाँ पर आपको बताया गया है कि कौनसी ऐसी परीक्षाएं हैं जो टीचर (Teacher) बनने के लिए जरुरी होती हैं.

टीचर बनने के लिए कौनसी परीक्षाएं पास करनी होती हैं What exams has to pass to become teacher

टीजीटी और पीजीटी

टीजीटी और पीजीटी परीक्षा राज्य स्तर पर आयोजित की जाने वाली परीक्षा है. सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और दिल्ली (Delhi) में यह परीक्षा लोकप्रिय है. टीजीटी परीक्षा के लिए ग्रेजुएट (Graduate) और बीएड (Bed) होना जरूरी होता है तो वही पीजीटी परीक्षा के लिए पोस्ट ग्रेजुएट (Post Graduate) और बीएड डिग्री होनी आवश्यक है. टीजीटी पास करने के बाद शिक्षक छठी क्लास से लेकर दसवीं क्लास (10TH Class) तक के बच्चों को पढ़ा सकते हैं और पीजीटी परीक्षा पास करने के बाद शिक्षक सेकेंडरी और सीनियर सेकेंडरी कक्षा के बच्चो को पद सकते हैं.

Advertisements

टीईटी (टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) –

भारत के कई राज्यों में टीईटी परीक्षा का आयोजन बीएड और डीएड कोर्स करने वाले विद्यार्थियों के लिए होता है. और कई जगहों पर तो यह जरुरी है कि बीएड करने के बाद शिक्षक बनने के लिए टीईटी परीक्षा को पास करना आवश्यक है. इस परीक्षा में वे विद्यार्थी भी हिस्सा ले सकते हैं जिनका बीएड का रिजल्ट (Result) नहीं आया हो. इस परीक्षा को पास करने के बाद राज्य सरकार कुछ निश्चित सालों के लिए एक सर्टिफिकेट (Certificate) देती है. यह समय ज्यादातर पांच-सात साल का होता है. इस दौरान उम्मीदवार (Candidates) शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन कर सकता है.

सीटीईटी (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट) –

केंद्रीय विद्यालय, राजधानी क्षेत्र दिल्ली के अंतर्गत आने वाले स्कूल, तिब्बती स्कूल और नवोदय विद्यालयों में शिक्षक बनने के लिए सीटीईटी परीक्षा को पास करना अनिवार्य है. यह परीक्षा सीबीएसई की ओर से आयोजित की जाती है. सीटीईटी परीक्षा में ग्रेजुएट (Graduate) पास और बीएड डिग्री (Bed Digri) वाले विद्यार्थियों को ही प्रवेश मिलता है. इस परीक्षा को पास करने के लिए उम्मीदवार के पास 60 फीसदी अंक लाना जरुरी है. इस परीक्षा को पास करने के बाद उम्‍मीदवार को एक सर्टिफिकेट (Certificate) दिया जाता है जो सात साल तक मान्‍य रहता है.

Advertisements

यूजीसी नेट

किसी भी कॉलेज में लेक्चरर (Lecturer) की नौकरी पाने के लिए इस परीक्षा को पास करना जरूरी होता है. यह परीक्षा साल में दो बार दिसंबर (December) और जून (June) में आयोजित की जाती है. नेट परीक्षा में तीन पेपर होते हैं. उम्मीदवार अंग्रेजी, हिंदी किसी भी माध्यम से परीक्षा दे सकते हैं. पहले पेपर में जनरल नॉलेज (General Knowledge), टीचिंग एप्टीट्यूट (Teaching Aptitude), रीजनिंग (Resigning) और दूसरे तथा तीसरे पेपर में चुने गए विषय से सवाल पूछे जाते हैं. 

              दी गयी सभी परीक्षाओं में से अगर आप किसी भी एक परीक्षा को पास करते हैं तो आप अपनी मनपसंद टीचिंग की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं. ये सभी परीक्षाओं में से किसी परीक्षा को पास करने के बाद टीचिंग के क्षेत्र में आपके लिए बहुत से अवसर होते हैं और आप अपनी मनपसंद जॉब प्राप्त कर सकते हैं.

Advertisements