कैसे करें यूपीएससी सीडीएस (संयुक्त रक्षा सेवा) परीक्षा की तैयारी How to do preparation for UPSC CDS (Combined Defence Services) exam

संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा की तैयारी करने के आसान हिंदी टिप्स Esy Hindi tips for preparation UPSC CDS Exam

upsc-exam-jobisearchक्या आप जानते है कि क्या है यूपीएससी सीडीएस परीक्षा, बहुत कम लोग है जिन्हें यूपीएससी सीडीएस परीक्षा की पूरी जानकारी हो, हर वर्ष कई हजारो व लाखो छात्र-छात्राएं इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं कई सफल होते हैं पर कुछ अपनी कुछ कमियों के कारण असफल हो जाते हैं.

Advertisements

यहाँ पर आपको बताया गया हैं कि कैसे आप यूपीएससी सीडीएस परीक्षाओं कि तैयारी कर सकते हैं और कैसे सफलता प्राप्त कर सकते हैं. यूपीएससी सीडीएस परीक्षा पास करने के बाद आप भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना में कार्यरत होते हैं.

सीडीएस परीक्षा हेतु शैक्षिक योग्यता (Qualification for CDS exam) –

सीडीएस परीक्षा में आवेदन हेतु उम्मीदवार को सर्वप्रथम मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय में ग्रेजुएट होना जरूरी है. और नेवी के लिए इंजीनियरिंग में बैचलर डिग्री जरूरी है, जबकि एयरफोर्स एकेडमी की परीक्षा के लिए ग्रेजुएट (Graduate) होने के साथ ही बारहवीं में मैथ्स और फिजिक्स जरूरी है.

Advertisements

सीडीएस परीक्षा पैटर्न (Exam pattern of CDS) –

  1. इस परीक्षा में ऑब्जेक्टिव (Objective) प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं और इसमें नेगेटिव मार्किंग (Negative Marking) भी होती है.
  2. इस एग्जाम में मैथ्स (Maths) और इंग्लिश (English) दो महत्वपूर्ण सब्जैक्ट (Subject) होते हैं.
  3. रिटन एग्जाम तीन चरणों में होता है. पहला पेपर अंग्रेजी, दूसरे पेपर में जनरल नॉलेज (General Knowledge) और तीसरा पेपर एलिमैंट्री मैथमेटिक्स (Elementary Mathematics) से होता है.
  4. हर पेपर के लिए दो घंटे का समय दिया जाता है और प्रत्येक के सौ अंक होंगे. दूसरे शब्दों में कुल 6 घंटे में तीन सौ अंकों के तीन पेपर होंगे. रिटन एग्जाम सफल होने के बाद इंटेलिजेंस (Intelligence) और पर्सनैल्टी टेस्ट (Personality Test) लिया जाएगा.

यूपीएससी सीडीएस परीक्षा की तैयारी कैसे करें आसानी से How to do preparation for UPSC CDS exam easily 

परीक्षा पैटर्न को समझना है जरुरी (Understand the exam pattern) –

सर्वप्रथम किसी भी परीक्षा कि तैयारी के लिए उसके परीक्षा के पैटर्न को समझना बहुत जरुरी है. परीक्षा की तैयारी करने से पहले आपको यह पता होना चाहिए कि परीक्षा का पैटर्न और सिलेबस क्या है।हर परीक्षा का पैटर्न अलग-अलग होता है जैसे प्रश्नों की कुल संख्या,भागो की संख्या,परीक्षा अवधि आदि। परीक्षा में सफलता पाने के लिए ज़रूरी है कि जिस तरह से परीक्षा का पैटर्न है (Exam Pattern) आप उसी के अनुसार तैयारी करे।

Advertisements

स्टडी प्लान बनाये (Make a Study Plan) –

अगर आप परीक्षा कि तैयारी करना शुरू कर रहे है तो उससे पहले अपना स्टडी प्लान बनालें कि कैसे आपने अपनी यूपीएससी सीडीएस (UPSC CDS) परीक्षाओं की तैयारी करनी है. सभी परीक्षाओं का पैटर्न भिन्न भिन्न होता है जैसे प्रश्नों की कुल संख्या,भागो की संख्या,परीक्षा अवधि आदि। इसलिए आपको परीक्षा की शुरुवात करने से पहले अपना स्टडी प्लान बनाना होगा, तभी आप अपनी सीडीएस परीक्षा की तैयारी अच्छे से कर पाएंगे.

समय प्रबंधन है जरुरी (Time Management is important) –

समय प्रबंधन (Time Management) बहुत जरुरी है परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए, परीक्षा में आपको अगर सफलता प्राप्त करनी हैं ,तो सबसे पहले यह निर्धारित करलें कि किस विषय को कितना समय देना है और जो विषय आपको ज्यादा कठिन लगता है उस विषय पर ज्यादा ध्यान दे और उसकी तैयारी अच्छे से करें और बाकि सभी विषयो को बराबर समय दे.

Advertisements

रिलैक्स रहे (Be Relax) –

जब भी आप पढ़ाई करने बैठते है तो लगातार पढ़ाई न करें और बीच-बीच में आराम करते रहें, पढ़ाई करते समय आपका दिमाग थक जाता है,  जब भी आप थकान महसूस करें तो एक चोट सा ब्रेक (Short Break) ज़रूर लें | आमतौर पर पढ़ाई करते समय 30 से 40 मिनट के बाद आपको थोड़ा आराम करना चाहिए. और एक बात हमेशा ध्यान दे पढ़ाई करने के लिए शांत जगह का चुनाव करें, कभी भी शोर, गुल वाली जगहों पर बैठकर ना पढ़े.

पुराने प्रश्न पत्र हल करें (Solve the old papers) –

अगर आप यूपीएससी सीडीएस परीक्षा में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो पुराने वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करना बिलकुल भी ना भूले और हो सके तो कम से कम दो या तीन बार उन्हें हल करें. अगर पुराने वर्ष कर प्रश्न पात्र हल करते हैं तो इससे आपको परीक्षा के पैटर्न को समझने में भी आसानी होती है और कुछ प्रश्न ऐसे होते हैं जो आपकी इस वर्ष की परीक्षा में भी आ सकते हैं. इसलिए पिछले वर्ष के प्रश्न पात्र हल करना बिलकुल भी ना भूले.

Advertisements