कैसे करे बच्चो के भविष्य और पढाई की फाइनेंशल प्लानिंग Planing of children education and better future

बच्चों की पढाई और फ्यूचर की प्लानिंग (Children education and planning of future)

बच्चों की पढाई और फ्यूचर की प्लानिंग (Children education and planning of future) jobisearchआज अच्छी शिक्षा पाने का खर्च हर दिन देश में बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है। शुरूआती पढाई से लेकर किसी प्रोफेशनल कोर्स की फीस में हर साल बड़ी तेजी से वृद्धि हो रही है. अगर हमारी फाइनेंशियल प्लानिंग सही व मजबूत नहीं है तो बच्चों की पढाई का खर्च घर के मासिक बजट को बिगाड़ देता है. 

Advertisements

बच्चो के लिए फाइनेंशल प्लांनिग करते वक़्त ध्यान रखे(How to financial planning of child education)

एजुकेशन से सम्बंधित खर्चे दिनोदिन बहुत उचे रेट के साथ तेजी से बढ़ते जा रहे हैं इसीलिए बच्चों की पढ़ाई के लिए सही समय पर बचत कर निवेश शुरू कर देना चाहिए। एजुकेशन के लिए आपने जिन विकल्पों में निवेश किया है उनसे उस पर मिलने वाला रिटर्न महंगाई के अनुकूल होना चाहिए.

भविष्य में कितने फंड की जरूरत होगी अनुमान लगाए (How much funding will be needed in future estimates)

आंकडों के अनुसार एजुकेशन की महंगाई दर 10 से 12 फीसदी सालाना है। इसके अनुसार आने वाले सालों में अगर औसतन 6 फीसदी प्रति वर्ष की दर से बढ़ता है तो 15  से 16 साल बाद जिस इंजिनियरिंग कोर्स की फीस आज 6 लाख रुपए है वही 15 लाख रुपये तक हो जायेगी.

फण्ड को बेहतर तरीके से करे मैनेज(To manage fund to better way)

अपने फंड्स को बेहतर तरीके से बच्चो की जरूरत के हिसाब से मैनेज करे. बच्चे की पढाई के खर्च का निवेश तीन अवादियो में बाँट ले छोटी अवधि, मध्यम अवधि और लंबी अवधि .इन तीनों में नियमित रूप से पैसे डालें.

निवेश के लिए इस विकल्पों का चुनाव करे(Choose some investment choice)

म्यूचुअल फंड्स(Mutual fund)

इसके द्वरा आप एक लंबी अवधी में अच्छा फण्ड जूटा सकते हैं.दो से चार म्युचुअल फंड स्कीम में एसआईपी (Systematic Investment Plan) शुरु कर सकते है  इसमें लार्ज और मिड कैप फंड्स भी हों तो बहुत अच्छा है. इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम में निवेश करने से बच्चे का भविष्य सुरक्षित होगा और साथ ही टैक्स की भी बचत होगी।

चाइल्ड यूलिप प्लान(Child ulip plan )

बच्चों की पढ़ाई के खर्चों को पूरा करने के लिए आप चाइल्ड यूलिप प्लान का भी चयन कर सकते है. इसके वेवर प्रीमियम फीचर की सहायता से बच्चे को मनचाही उम्र में पैसे मिल जाते हैं।

Advertisements

पब्लिक प्रोविडेंट फंड(Public provident fund)

आप बच्चे के नाम से पब्लिक प्रोविडेंट फंड का भी चुनाव कर सकते है.पीपीएफ(public provident fund) 15 वर्षों की स्कीम होती है   बच्चे की जरूरत के अनुसार एकाउंट के  6 साल के बाद कुछ राशि आप निकाल सकतें है.

बच्चे की पढ़ाई पर होने वाले खर्च का पहले से अनुमान लगाकर उसके लिए सही प्लानिंग करना एक समझदारी भरा निर्णय होता है.

प्रश्न 1. कैसे करे बच्चों की पढाई और फ्यूचर की प्लानिंग?

उत्तर 1. बच्चों की पढ़ाई और फ्यूचर की प्लानिंग के लिए सही समय पर बचत कर निवेश शुरू कर देना चाहिए। 

प्रश्न 2. बच्चो की पढाई के लिए फाइनेंशल प्लांनिग करते वक़्त क्या ध्यान रखना चाहिए?

उत्तर 2. बच्चो की एजुकेशन के लिए आपने जिन विकल्पों में निवेश किया है उनसे उस पर मिलने वाला रिटर्न महंगाई के अनुकूल होना चाहिए.

प्रश्न 3. पढाई के फण्ड को मैनेज करने के लिए कितने भागों में बाटें?

उत्तर 3. पढाई के फण्ड को मैनेज करने के लिए तीन भागों में बाटना चाहिए.छोटी अवधि, मध्यम अवधि और लंबी अवधि.

प्रश्न 4. बच्चो की पढाई के निवेश के लिए किन विकल्पों का चुनाव करें?

उत्तर 4. बच्चों के भविष्य के निवेश के लिए म्यूचुअल फंड्स, चाइल्ड यूलिप प्लान,और पब्लिक प्रोविडेंट फंड जैसे विकल्पों का चुनाव कर सकतें है.

Advertisements

संबंधित लेख