म्यूचुअल फंड या शेयर में से किस में करें निवेश जो कराये लाभ (Which is Better Mutual Fund or Stock)

म्यूचुअल फंड (पारस्परिक निधि) और शेयर (व्यक्तिगत स्टॉक) में क्या अंतर है (Difference Between Mutual Fund and Stock)

पारस्परिक निधि और व्यक्तिगत स्टॉक में क्या अंतर है jobisearchनिवेशक हमेशा इस परिस्थिति में परेशान होता है की वो निवेश किस में करें पारस्परिक निधि में या व्यक्तिगत स्टॉक में। पारस्परिक निधि में निवेशक अपने पैसे निवेश करता है, जिसे स्कीम के निश्चित उद्देश्यों के अनुसार निवेश किया जाता है। म्यूचुअल फण्ड में निवेश करने से कई सारे फायदे होते है।

Advertisements

निवेशक को उसके वित्त के लिए व्यावसायिक प्रबंधन का लाभ प्राप्त होता है। व्यक्तिगत स्टॉक मार्केट में पैसा कमाना सबसे बेहतर है। व्यक्तिगत स्टॉक और पारस्परिक निधि दोनों इक्विटी में आते है। निवेश करने के लिए दोनों सही तरीके है। लेकिन इन दोनों में कई सारे अंतर है। व्यक्तिगत स्टॉक को कोई भी निवेशक ले सकता है और पारस्परिक निधि को व्यपक रूप से निवेश का एक निष्क्रिय फार्म माना जाता है।

पारस्परिक निधि क्या है (What is Mutual Fund)

पारस्परिक निधि एक प्रकार का सामुहिक निवेश होता है। निवेशको के समुह मिल कर स्टॉक, अल्प अविधि के निवेश या अन्य सेक्यूरीटीज मे निवेश करते है। जिसे स्कीम के निश्चित उद्देश्यों के अनुसार निवेश किया जाता है। निवेश प्रबंधक एकत्रित पैसों का निवेश उन संपत्तियों में करता है जिन्हें स्कीम के निश्चित उद्देश्यों द्वारा परिभाषित किया जाता हैं। म्यूचुअल फंड स्कीम निवेशकों से पैसा एकत्र करती है और एक साथ शेयर खरीदती व बेचती है।

व्यक्तिगत स्टॉक क्या है (What is Individual Stock)

व्यक्तिगत स्टॉक संस्थापकों द्वारा कारोबार में प्रदत्त मूल पूंजी या निवेश का प्रतिनिधित्व करता है। यह व्यापार के लेनदारों के लिए एक प्रतिभूति के रूप में कार्य करता है। व्यक्तिगत स्टॉक दो प्रकार के होते है सामान्य स्टॉक और अधिमान्य स्टॉक। सामान्य स्टॉक के साथ आम तौर पर मतदान का अधिकार होता है जिनका उपयोग कॉर्पोरेट फैसलों में किया जा सकता है और अधिमान्य स्टॉक सामान्य रूप से मताधिकार नहीं होता है ये सामान्य स्टॉक से बिलकुल विपरीत होता है शेयर धारक भी इससे लाभ पा सकते है।

पारस्परिक निधि और व्यक्तिगत स्टॉक में अंतर (Difference in Mutual Fund and Stock)

बचत चरण (Savings Phase) – म्युचुअल फंड में आपको सही समाधान मिलते है और अगर आप निवेश करेंगे तो आपको उसमे बचत भी होगी। स्टॉक में अगर आप अधिक निवेश करेंगे तो आप अपनी फण्ड को ठीक कर सकेंगे लेकिन इसमें आप ज्यादा बचत नही कर पाएंगे।

Advertisements

कंट्रोल फ्रिक (Control Freak) – पारस्परिक निधि में आप अपने निवेश की हुई राशि को थोड़े समय के लिए निवेश कर सकते है और व्यक्तिगत स्टॉक में आप अपनी राशि को ज्यादा भी बड़ा सकते है।

टैक्स की संवेदनशीलता (Tax Sensitivity) – स्टॉक में आप शेयर को अच्छे से पा सकते है चाहे आपको लाभ हो या हानि। लाभ होना या हानि होना ये आपके पोर्टफोलियो (portfolio) प्रबंधक (manager) पर निर्भर करता है। म्यूच्यूअल फण्ड में कोई टैक्स नही पड़ता है इसमें बस मैनेजमेंट फी पड़ती है जिसमे टैक्स भी ले लिया जाता है।

सब वे (subway) – स्टॉक में आप फाइनेंसियल को लिमोसिन सर्विस के बराबर कर सकते है क्योंकि स्टॉक आपको प्रोफेशनल नेविगेशन देती है। अगर आप म्युचुअल फंड में सब वे का इस्तेमाल करते है तो ये तरीका सही है क्योंकि इससे आपको ज्यादा फायदा होगा।

पारस्परिक निधि व्यक्तिगत स्टॉक से बेहतर कैसे है (How Mutual Fund is Better than Stock)

विविधीकरण (Diversification) – म्यूचुअल फंड, स्टॉक  से ज्यादा बेहतर है म्यूचुअल फंड में  विविधीकरण सुविधा और कम लागत होती है। इसमें कम कीमत में विविधीकरण को लिया जा सकता है।  म्यूचुअल फंड में निवेश करने में आपको कम रिस्क होगा। म्यूचुअल फंड अपने सारे फंड्स को स्टॉक में रखते है जो अलग अलग कंपनी लेती है और उसमे अलग लग बांड्स भी लगते है।

अनुकूलन (Customization) – फण्ड के कारण अलग अलग प्रकार के रिस्क हो सकते है जिससे निवेश करने में काफी परेशानी होती है लेकिन पारस्परिक निधि में इस नही है इसमें हम आसानी से निवेश कर सकते है वो भी बिना रिस्क के लेकिन व्यक्तिगत स्टॉक में फण्ड के कारण रिस्क ज्यादा होता है जिससे अधिकतर लोग पारस्परिक निधि को अपनाते है।

Advertisements

ओवरसाइट (Oversight) – म्यूचुअल फंड में सभी निवेशक के लिए एक जैसा ही लाभ है।  सारे फण्ड को प्रोफेशनल्स द्वारा देखा जाता है जिनका मकसद सिर्फ लाभ पाना  होना है। स्टॉक फंड्स में भी ऐसे ही निवेश किया जाता जैसा म्यूचुअल फंड में होता है।  लेकिन ज्यादा सुविधा होने के कारण म्यूचुअल फंड ज्यादा लोगो द्वारा अपनाया जाता है।

लोअर ट्रेडिंग कॉस्ट (Lower Trading Cost) – अगर आप छोटे ब्लॉक और स्टॉक में इन्वेस्ट कर रहे है तो ट्रांसक्शन कॉस्ट में आपको ज्यादा मुनाफा होगा। पारस्परिक निधि में आपको ज्यादा ब्लॉक मिलेंगे जिससे आपको ज्यादा मुनाफा होगा इसलिए पारस्परिक निधि का इस्तेमाल ज्यादा निवेशकों द्वारा किया जाता है। निवेशक अपनी राशि में ज्यादा रिस्क नही लेते है और पारस्परिक निधि में निवेश करते है।

पारस्परिक निधि और स्टॉक से सम्बंधित प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर

(Mutual Fund and Stock Related Question and Answer)

प्रश्न 1- पारस्परिक निधि क्या है?

उत्तर- पारस्परिक निधि एक प्रकार का सामुहिक निवेश होता है।

Advertisements

प्रश्न 2- व्यक्तिगत स्टॉक क्या है?

उत्तर- व्यक्तिगत स्टॉक व्यापार के लेनदारों के लिए एक प्रतिभूति के रूप में कार्य करता है।

प्रश्न 3- व्यक्तिगत स्टॉक कितने प्रकार के होते है?

उत्तर- व्यक्तिगत स्टॉक दो प्रकार के होते है सामान्य स्टॉक और अधिमान्य स्टॉक।

प्रश्न 4- पारस्परिक निधि और व्यक्तिगत स्टॉक में से बेहतर कौन है?

उत्तर- पारस्परिक निधि व्यक्तिगत स्टॉक से बेहतर है।

Advertisements

संबंधित लेख