भारतीय वित्तीय प्रणाली में सेबी, आरबीआई और आईआरडीए की भूमिका Regulatory Bodies in india and its role

नियामक निकायों की पूरी जानकारी full detail of Regulatory Bodies

Role of Regulatory Bodies SEBI RBI and IRDA in Indian financial system

सेबी के बारे में पूरी जानकारी (Full detail about SEBI)

नियामक निकायों की पूरी जानकारी jobisearchअगर आप शेयर बाजार में बिज़नस कर रहे हैं तो अवश्य ही आपको सेबी के(SEBI) बारे में जानकारी होगी, और अगर नही पता है तो आपको पता होना बहुत जरुरी है क्योंकि सेबी शेयर बाजार का बहुत हि महत्वपूर्ण हिस्सा है, जो  शेयर बाजार को अच्छी प्रकार से चलने में बहुत मदद करता है.

Advertisements

अगर सेबी की स्थापना नही की गयी होती तो शायद आज शेयर बाजार जितने अच्छे से चल रहा है उतने अच्छे से नही चलता, शेयर बाजार (Share Market) में कोई रूल्स नही होते, सभी अपनी मनमानी करते. अगर आप सेबी के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो यहाँ आपको सभी जानकारियां दी गयी हैं जो आपको बताती हैं की सेबी क्या है व इसके नियम क्या है.

सेबी क्या है (What is Securities and Exchange Board of India) –

सेबी की अगर बात करी जाये तो शायद आपमें से बहुत से लोगो ने ये शब्द पहली बार सुना होगा. सेबी का पूरा नाम सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (Securities and Exchange Board of India) है. सेबी एक प्रकार का मार्किट रेग्यूलेटर है जो पुरे बाजार शेयर बाजार को नियंत्रित करके रखता है. सेबी की स्थापना 12 अप्रैल, 1992 में सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया एक्ट के तहत की गई थी. सेबी का मुख्यालय मुम्बई है.

क्यों जरुरी है सेबी आसान टिप्स (why the Sebi is important easy tips) –

पहले जब शेयर बाजार में सेबी जैसी कोई संस्था नहीं थी तो शेयर बाजार में व्यापार करने वाले बहुत से लोग अर्थात जो शेयर ब्रोकर (Stock brokers) हुआ करते थे वे अपनी मनमानी करते थे, शेयर बाजार में कब क्या होगा कैसे होगा इसका कोई भी अनुमान नहीं लगाया जा सकता था. कई शेयर ब्रोकर्स ऐसे होते थे जो कोई रूल्स (Rules) ना होने के कारण अपनी बहुत ज्यादा मनमानी करते थे जिनकी वजह से कई बार अन्य शेयर ब्रोकर्स को परेशानी होती थी. ऐसे ही निवेशको से छुटकारा पाने के लिए किसी ऐसे संगठन की स्थापना की गयी जो इस बाजार की गतिविधियों पर नजर रख सके और जो व्यक्ति अपनी मनमानी करते हैं या जो गड़बड़ी करते हैं उन व्यक्ति या कंपनी पर कोई कार्यवाही कर सके. सेबी बाजार में होने वाली सभी गतिविधियों पर नजर रखता है तथा अगर कोई शेयरब्रोकर अपनी मनमानी करता है या किसी भी प्रकार की गलती करता है तो सेबी उन लोगो पर कार्यवाही करता है.

Advertisements

आईआरडीए क्या है (What is IRDA full detail) –

आईआरडीए का पूरा नाम बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (Insurance Regulatory and Development Authority) है, आईआरडीए स्वायत्त कानूनी एक ऐसी संस्था है, जो भारत में बीमा उद्योग और बिमा से सम्न्बधित सभी चीजों को नियंत्रित करती है. अगर बिमा उद्योग या बिमा से समंबधित किसी भी कार्य में कोई परेशानी होती है तो इन सभी कार्यो की देख-रेख व उन पर नियंत्रण करने का कार्य आईआरडीए करती है.

आरबीआई क्या कार्य करता है (Work of Reserve Bank Of India) –

रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया (Reserve Bank Of India) की स्थापना 1 अप्रैल सन 1935 को हुई थी, यह भारत का केंद्रीय बैंक है अर्थात यह भारत के सभी बैंको का संचालक है, आरबीआई भारत के सभी बैंको के कार्यो पर नियंत्रण रखता है. मुद्रा परिचालन एवं काले धन की दोषपूर्ण अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करने के लिए आरबीआई हमेष भारत के सभी बैंको पर नजर रखता है. शुरुवात में आरबीआई का केंद्रीय कार्यालय कोलकाता में था जो कि सन 1937 में मुम्बई (Mumbai) आ गया.

एफएमसी क्या कार्य करता है (Work of Forward Market Commission) –

वायदा बाजार आयोग भारत (एफएमसी) (Forward Market Commission) का मुख्यालय मुम्बई में है, एफएमसी का प्रमुख कार्य भारत में (सोना-चाँदी, तेल, खाद्य-फसले आदि सभी की खरीदी और बिक्री पर नियंत्रण करता है. इसकी स्थापना सांविधिक निकाय वायदा संविदा के तहत 1953 में हुई थी.

पीएफआरडीए क्या है (What is PFRDA) –

पेंशन फंड नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) (Pension Fund Regulatory and Development Aulthority) एक पेंशन नियामक प्राधिकरण योजना है जो भारत सरकार द्वारा 23 अगस्त को स्थापित की गयी थी. पीएफआरडीए विकास और अधिनियम के पेंशन फंड द्वारा बुढ़ापा आय सुरक्षा को बढ़ावा देता है और पेंशन फंड और संबंधित मामलों की योजनाओं की देख-रेख करता है.

Advertisements

नियामक निकायों (Regulatory Bodies) से सम्न्बधित प्रतियोगी परिक्षाओं में पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न एवं उनके उत्तर –

प्रश्न 1- शेयर मार्किट के नियमो को कौन नियंत्रित करता है?

उत्तर- शेयर मार्किट के नियमो को सेबी (सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया) नियंत्रित करता है.

प्रश्न 2- सेबी का पूरा नाम क्या है?

उत्तर- सेबी का पूरा नाम सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया है.

प्रश्न 3- सेबी की स्थापना कब की गयी थी?

उत्तर- सेबी की स्थापना 12 अप्रैल, 1992 में सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया एक्ट के तहत की गई थी.

प्रश्न 4- सेबी का मुख्यालय कहाँ है?

उत्तर- सेबी का मुख्यालय मुम्बई में स्थित है.

प्रश्न 5- आईआरडीए का पूरा नाम क्या है?

उत्तर- आईआरडीए का पूरा नाम बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (Insurance Regulatory and Development Authority) है.

प्रश्न 6- आईआरडीए का क्या कार्य है?

उत्तर- आईआरडीए भारत में बीमा उद्योग और बिमा से सम्न्बधित सभी चीजों को नियंत्रित करती है.

Advertisements

प्रश्न 7- आरबीआई की स्थापना कब की गयी?

उत्तर- रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया की स्थापना 1 अप्रैल सन 1935 को हुई थी.

प्रश्न 8- रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया का क्या कार्य है?

उत्तर- आरबीआई भारत के सभी बैंको का संचालक है, यह भारत के सभी बैंको के कार्यो पर नियंत्रण रखता है.

प्रश्न 9- सर्वप्रथम आरबीआई का केंद्रीय कार्यालय कहा स्थित था?

उत्तर- शुरुवात में आरबीआई का केंद्रीय कार्यालय कोलकाता में स्थित था.

प्रश्न 10- एफएमसी का क्या कार्य है?

उत्तर- एफएमसी का प्रमुख कार्य भारत में (सोना-चाँदी, तेल, खाद्य-फसले आदि सभी की खरीदी और बिक्री पर नियंत्रण करना है.

प्रश्न 11- पीएफआरडीए का क्या काम है?

उत्तर- पीएफआरडीए पेंशन फंड और संबंधित मामलों की योजनाओं की देख-रेख करता है.

प्रश्न 12- पीएफआरडीए का पूरा नाम क्या है?

उत्तर- पीएफआरडीए का पूरा नाम पेंशन फंड नियामक एवं विकास प्राधिकरण है.

Advertisements