बीमा क्या होता है बीमा कितने प्रकार का होता है (What is insurance and how many types of insurance)-

क्या है बीमा (What is insurance)

क्या है बीमा (What is insurance) jobisearchबीमा एक प्रकार का अनुबंध है। दो या दो से अधिक व्यक्तियों में ऐसा समझौता जो कानूनी रूप से लागू किया जाता है अनुबंध कहलाता है। बीमापत्र के अनुसार बीमा कराने वाले व्यक्ति के साथ कोई घटना घटित होने पर बीमा करनेवाला एक निश्चित धनराशि बीमा करानेवाले व्यक्ति को प्रदान करता है।

Advertisements

बीमा के प्रकार (Different types of insurance policies) 

सामान्य बीमा(General insurance)

व्यक्तिगत बीमा(Personal insurance)- व्यक्तिगत बीमा में व्यक्ति की व्यक्तिगत अवश्यकताओं की सुरक्षा की जाती है जैसे व्यक्ति के स्वस्थ्य से सम्बंधित समस्या के लिए व्यक्तिगत बीमा की आवस्यकता होती है. व्यक्तिगत बीमा में के अंतर्गत निम्न तरह के बीमा आते है

  • मेडिकल बीमा(Medical insurance)
  • मोटर बीमा(Vehicle insurance)
  • एक्सीडेंटल इंश्योरेन्स(Accidental insurance)

ग्रामीण बीमा(Rural insurance)- ग्रामीण बीमा गावँ के व्यवसायी और उनके व्यापार के लिए उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए किया जाता है यह योजना गावँ के व्यवसायी के व्यापार से संबधित और उनके स्वस्थ्य से सम्बंधित सुरक्षा प्रदान करती है.

औद्योगिक बीमा(Industrial insurance)- औद्योगिक बीमा कंपनियों को उनके बचाव की सुरक्षा प्रदान करता है. किसी तरह के प्राकर्तिक प्रकोपो,आग से होने वाले नुकसान, बाढ़ आदि के समय कंपनी को सुरक्षा या सहायता प्रदान करता है.

वाणिज्यिक बीमा व्यापारिक बीमा(Commercial insurance)- व्यापारिक बीमा व्यापार से सम्बंधित समस्याओ के लिए सुरक्षा देता है व्यापार में हुई हानि जैसे नौकर के द्वारा धोखा दिए जाने पर,चोरी हो जाने पर,फर्नीचर को नुकसान पहुचने पर आदि समस्याओ के समय सुरक्षा देता है.

जीवन बीमा(life insurance)-

जीवन बीमा, बीमाकृत व्यक्ति की मृत्यु हो जाने पर उसके परिवार की आर्थिक नुकसान की भरपाई करने की सुरक्षा है बीमा कम्पनी तय समय तक बीमाकृत व्यक्ति की म्रत्यु हो जाने पर तय धनराशि  का भुगतान करती है जब कोई व्यक्ति अपना जीवन बीमा कराना चाहता है तब उसे बीमा उसे बीमा प्रदाता को प्रीमियम का भुगतान करना होता है.

Advertisements

  • टर्म इन्शोरंस प्लान(Term insurance plan)- यह प्लान दूससरे प्लान से थोड़ा सस्ता होता है इस प्लान में केवल बीमा का कवर दिया जाता है इसके प्रीमियम का कोई हिस्सा निवेश में नहीं लगाया जाता है.इस इन्शुरन्स में एक निश्चित राशि बीमा धारक की मृत्यु हो जाने पर उसके लाभारथी को दे दी जाती है
  • पूरा जीवन नीति(Whole Life insurance)- यह प्लान पूरी जिंदगी भर के लिए होता है इसमें लंबे समय के लिए पैसा लगाना होता है इस इन्शुरन्स के तहत एक लंबे समय तक आपको प्रीमियम की राशि जमा करनी होती है.
  • बंदोबस्ती प्लस (Endowment Plans)- टर्म प्लान और एंडोमेंट प्लान में एक अंतर होता है वो है मैच्योरिटी बेनिफिट का इसका मतलब यह है की जब पालिसी मैच्योर हो जाती है तो बीमा राशि के साथ बोनस जोड़ कर बीमा धारक को दिया जाता है.
  • यूनिट लिंक्ड बीमा योजनाएं(Unit Linked Insurance Plans)- इस इंश्योरेन्स बीमा और निवेश दोनों की जरूरतों को पूरा करता है यूलिप में आपके द्वारा दिए गए प्रीमियम से बीमा और प्रबंधन के खर्चे और चार्ज काट कर बचे हुए पैसे को निवेश कर दिया जाता है पैसे का निवेश कौन से फंड में करना है और कितना करना है  यह आपके द्वारा निर्धारित किया जाएगा.
  • मनी बैक पॉलिसी(Money Back plan)- मनी बैक पालिसी भी एंडोमेंट प्लान Endowment Plan की तरह ही होती है जिसमें बीमा राशि का एक तय भाग बीमा अवधि के समय एक निश्चित अवधि के अंतराल में बीमा धारक को दिया जाता है. बची हुई धनराशि को बोनस के साथ दिया जाता है.

Advertisements

अन्य बीमा योजना(Other insurance-

स्वास्थ्य बीमा(Health insurance)- स्वास्थ्य बीमा इसलिए कराना जरूरी है क्योकि ये आपके चिकित्सकीय उपचार पर होने वाले व्यय से सुरक्षा प्रदान करता है। स्वास्थ्य से सम्बंधित इलाज बहुत ही महंगा होता है स्वस्थ्य बीमा होने से महँगे इलाज के समय सहायता प्रदान करता है.

यात्रा बीमा(Travel insurance)- यात्रा बीमा एक ऐसा इंश्योरेन्स है जो आपकी विदेशयात्रा के दौरान होने वाली वित्त से सम्बंधित होने वाले नुकसान के विरुद्ध सुरक्षा प्रदान करता है यह बीमा आपको आपका सामान खो जाने, यात्रा के दौरान चिकित्सकीय आपात स्थिति अथवा दुर्घटना की स्थितियों में आर्थिक सुरक्षा प्रदान करता है।

गृह बीमा(Home insurance)- होम इंश्योरेन्स में आपके घर का और घर में रखे सामान का बीमा किया जाता है यह आपके घर की सुरक्षा की दृस्टि से करना जरूरी होता है घर का बीमा कराने से किसी मुसीबत के समय आपको सहायता मिलती है.

बीमा कई प्रकार का होता है हम सभी को अपनी जरूरतों के अनुसार बीमा अवस्य ही कराना चाहिए और इससे प्राप्त होने वाले लाभो को लेना चाहिए.

Advertisements

संबंधित लेख