लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर Different b/w Lok Sabha, Assembly and Rajya Sabha

लोकसभा क्या है (What is Lok Sabha) –

लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर लोक सभा, भारतीय संसद का एक निचला सदन है। लोक सभा सार्वभौमिक वयस्क मताधिकार (universal adult suffrage) के आधार पर, लोगों के माध्यम से चुने हुए प्रतिनिधियों से (representatives) गठित होती है। लोकसभा का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है. परंतु प्रधानमंत्री की सलाह पर, राष्ट्रपति द्वारा लोकसभा का विघटन 5 वर्ष पूर्व भी किया जा सकता है। भारतीय संविधान के अनुसार, सदन में सदस्यों की अधिकतम संख्या 552 तक हो सकती है. जिसमें से 530 सदस्य भिन्न-भिन्न राज्यों का तथा 20 सदस्य तक संघ राज्य क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व (Representation) करते हैं। लोकसभा के सदस्यों का चुनाव, वयस्क मतदान (Adult suffrage) के आधार पर होता है।

लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर जाने –

प्रथम लोकसभा का गठन (Constituted Of First Loksabha)

17 अप्रैल 1952 को प्रथम लोकसभा का गठन हुआ था। तथा इसकी प्रथम बैठक 13 मई, 1952 को हुई थी। 31वें संविधान संशोधन, 1974 के के अनुसार, लोकसभा के लिए अधिकतम सदस्य संख्या 547 निश्चित की गयी। परन्तु वर्तमान में गोवा, दमन और दीव पुनर्गठन अधिनियम, 1987 द्वारा यह भी निर्धारित किया गया कि लोकसभा में अधिकतम सदस्य संख्या 552 तक हो सकती है. इसके साथ ही आप दमन और दीव प्रदेश की भैगोलिक जनसंख्या का भी विविरण कर सकते है यह संख्या लोकसभा के सदस्यों की सैद्धान्तिक आकलन (Theoretical Calculations) है. तथा वर्तमान समय में, लोकसभा की प्रभावी संख्या (Effective strength) 545 है।इसी तरह की और भी जनरल नॉलेज जानकारी G.k Quiz करंट अफेयर द्वारा पा सकते है 

लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर और अधिक जानने के लिए आगे पढ़े – 

लोकसभा में सीटों की संख्या (Number of seats in the Lok Sabha) –

  • सामान्य (General) निर्वाचन क्षेत्र – 423
  • अनुसूचित जनजाति (Scheduled Tribe) हेतु आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र – 41
  • अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) हेतु आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र – 79
  • आंग्ल भारतीय समुदाय के मनोनयन (Nomination) के लिए निर्धारित सीट – 2
  • कुल सीटें = 545

राज्यसभा का अर्थ (Meaning of Rajy Sabha) –

लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर राज्यसभा, भारतीय संसद का एक ऊपरी सदन है। राज्य सभा की प्रथम बैठक 13 मई, 1952 को हुई थी. राज्यसभा में 250 सदस्य होते हैं. इस संख्या मे 12 सदस्य भारत के राष्ट्रपति द्वारा नामांकित (Nominated) होते हैं। जिन्हें ‘नामित सदस्य (Nominee)’  भी कहा जाता है। तथा अन्य शेष 238 सदस्य का चुनाव राज्य तथा संघ राज्य क्षेत्रों की विधान सभाओं के सदस्यों द्वारा होता है। राज्यसभा के लिए सदस्य 6 वर्ष के लिए चुने जाते हैं, जिसमे से प्रत्येक 2 वर्ष में एक-तिहाई सदस्य सेवा-निवृत (Retired) हो जाते हैं Iभारत का उपराष्ट्रपति (Vice-President) ,राज्यसभा का सभापति (Chairman) होता है।

राज्यसभा के लिए अवधि (Term for the Rajya Sabha)

राज्यसभा का कभी विघटन (Dissolution) नहीं होता। राज्यसभा के लिए सदस्य 6 वर्ष के लिए चुने जाते हैं। जिसमे से हर 2 वर्ष में एक-तिहाई सदस्य रिटायर्ड हो जाते हैं.  राज्यसभा से जुड़ा कोई सदस्य इस्तीफा (Resignation) दे देता है या उस सदस्य की आकस्मिक मृत्यु हो जाती है. तो इस रिक्त स्थान के लिए उपचुनाव (By-elections) होता है।

राज्यसभा के लिए अधिवेशन (Session of Rajy Sabha) –

राज्यसभा में प्रत्येक या एक वर्ष में दो बार अधिवेशन (Session) होता है, परन्तु राज्यसभा में अधिवेशन की अन्तिम बैठक (Last Meeting) तथा आगामी अधिवेशन की प्रथम बैठक (first meeting of the next session) के लिए निर्धारित तारीख के मध्य 6 महीने का अन्तर नहीं होना चाहिए।

विधानसभा का अर्थ (Meaning of Legislative Assembly) –

लोकसभा, राज्यसभा और विधानसभा कार्य प्रणाली एवं इनमे अंतर विधान सभा, विधान मण्डल का एक भाग है। विधान सभा के सदस्यों का चुनाव, प्रत्यक्ष रूप से मतदान (vote)  द्वारा होता है. जिसमें सभी भारतीय नागरिक जो 18 वर्ष की उम्र पार कर चुके है वह मतदान कर सकते है. इसमें मुख्यमंत्री (Chief Minister) विधान सभा का नेता (leader) होता है. विधानसभा में 500 से अधिक व 60 से कम सदस्य नहीं हो सकते। विधान सभा का अवधि या कार्यकाल पांच वर्षों का होता है. आपातकाल के समय (During the emergency), इसके सत्र को बढ़ाया या विघटित भी किया जा सकता है. या मुख्यमंत्री के आग्रह (request) पर राज्यपाल (Governor) द्वारा इसे पांच वर्ष से पूर्व भी विघटित भी किया जा सकता है।

विधानसभा का सदस्य बनने के लिए, व्यक्ति की उम्र 25 वर्ष से अधिक होनी चाहिए. तथा उसका भारत का नागरिक होना अनिवार्य है.

लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा विषय से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न व् उनके उत्तर

प्रश्न वर्तमान में राज्यसभा सदस्यों की संख्या कुल कितनी है?

उत्तर – वर्तमान में राज्यसभा सदस्यों की संख्या कुल 245 है.

प्रश्नवर्तमान में लोकसभा सदस्यों की संख्या कुल कितनी हैं?

उत्तर – वर्तमान में लोकसभा सदस्यों की कुल संख्या 545 हैं.

प्रश्न राज्यसभा में राज्यों का प्रतिनिधित्व किस पर निर्भर करता है ?

उत्तर – राज्यसभा में राज्यों का प्रतिनिधित्व, राज्य की जनसंख्या पर निर्भर करता है.

प्रश्न राज्यसभा का प्रथम गठन कब हुआ था ?

उत्तर – राज्यसभा का प्रथम गठन 3 अप्रैल, 1952 ई. को हुआ था.

प्रश्नप्रथम लोकसभा का गठन कब हुआ था?

उत्तर – 17 अप्रैल 1952 को प्रथम लोकसभा का गठन हुआ था।

प्रश्नविधानसभा का कार्यकाल कितने वर्षो का होता है ?

उत्तर – लोकसभा का कार्यकाल 5 वर्षो का होता है I

प्रश्न प्रथम लोकसभा की बैठक कब हुई थी?

उत्तर – 13 मई, 1952 को प्रथम लोकसभा की बैठक हुई थी I

प्रश्न लोकसभा का कार्यकाल कितने वर्षो का होता है ?

उत्तर – लोकसभा का कार्यकाल 5 वर्षो का होता है I

प्रश्नकिस सदन का विघटन या भंग नहीं किया जा सकता है ?

उत्तर – राज्यसभा सदन को भंग नहीं किया जा सकता है.

प्रश्नराज्यसभा सदस्य का कार्यकाल कितना होता है ?

उत्तर – राज्यसभा सदस्य का कार्यकाल  6 वर्ष का होता है.

प्रश्न राज्यसभा के सदस्यों को नामित करने का अधिकार किसके पास है ?

उत्तर – राज्यसभा के सदस्यों को नामित करने का अधिकार राष्ट्रपति के पास है.

प्रश्न राज्यसभा में किस राज्य के प्रतिनिधियों की संख्या सबसे अधिक है ?

उत्तर – राज्यसभा में उत्तर प्रदेश राज्य के प्रतिनिधियों की संख्या सर्वाधिक है.