पंजाब राज्य के प्रतीक व परंपरागत संस्कृति समान्य ज्ञान जनरल नॉलेज

राज्य प्रतीक व परंपरागत संस्कृति समान्य ज्ञान (Punjab State Symbols and Traditional Culture GK)-

पंजाब राज्य का लोकप्रिय नृत्य भांगड़ा (वीरता का प्रतीक) व गिद्दा है जो फसल काटने के अवसर पर स्त्रियों द्वारा किया जाता है,

पंजाब राज्य की राज्य प्रतीक व परंपरागत संस्कृति जॉबआईसर्च इनयहां का प्रमुख त्यौहार वैशाखी व लोहड़ी है,लोहड़ी को शीतकाल के अंत के रूप में मनाया जाता है , पंजाब का प्रसिद्ध हस्तशिल्प फुलकारी शॉल है जिस पर सिल्क कि कड़ाई होती है, पटियाला और मुक्तसर जूतियों के लिए सुप्रसिद्ध है।

राज्य पक्षी – नॉर्थन गोशाक(बाज)

राज्य फूल – कोई नहीं 

राज्य पेड़ – शीशम

राज्य पशु – चिंकारा

आभूषण – सागी, शीशफूल, छौंक या छोटी फूल, मौली, सर माँग, दामनी और दौनी , टिका और कश्का ,चाँद बिना, ट्वीट ,झूमर  गुच्छी मरवारिड (मोटिका समूह), बरवता, नथ,बुलाक, लटकन, मोरनी, लौंग  ,फुल्ली ,बोर, चन्दनहार,चम्पाकली, जुगनी, हस्सी और  हस,गलोबंद, पोंछी,कंगन   

वैवाहिक रस्मे – रोक्का, मंगनी,सगाई, घर घड़ोली, जग्गो, सरबला, घोड़ी चढ़ना  

वाद्य यंत्र – तुम्बा, अलगोजा, धड़ , सारंगी, चिमटा

परंपरागत पोशाक – पंजाबी और कुर्ता, पंजाबी सलवार सूट, पंजाबी घाघरा और पटियाला सलवार

व्यंजन – दाल मखनी, मक्के दी रोटी, सरसों दा साग, चने भटूरे, नान, बटर चिकन, बुदबुदाना पनीर, तंदूरी, समोसे, पकोड़े  दही लगभग हर डिश के लिए उपयोग होता है।

मिठाई – रसगुल्ला, बर्फ़ी और गुलाब जामुन

लोक नृत्य – भांगड़ा, झूमर और सम्मी , गिद्दा, सिक्खों के धार्मिक संगीत के साथ-साथ उपशास्त्रीय मुग़ल शैली भी लोकप्रिय है, जैसे खयाल, ठुमरी, गजल और कव्वाली

त्योहार –  पंजाबियों मेला लोहड़ी, होली, वैसाखी, दीवाली, दशहरा, करवा चौथ और गुरु नानक जयंती

लोक गीतों – टप्पा, माहिया, और ढोला

स्मारक – स्वर्ण मंदिर (हरमंदिर) (स्वर्ण मंदिर में सोने की जरदोजी का काम, बूटेदार फलक और रंगीन पत्थरों से सज्जित संगमरमर की दीवारें हैं),जलियाँवाला बाग़ में शहीद स्मारक, दुर्गियाना (अमृतसर में भी) का हिन्दू मंदिर, कपूरथला में स्थित मूर शैली की मस्जिद और भटिंडा तथा बहादुरगढ़

p agriculture

p poli

p demo

p travel

all state

error: