थाइराइड घेंघा रोग के लक्षण और घरेलू उपाय home remedies of thyroid acne disease

थायराइड रोग के मुख्य लक्षण Main symptoms of thyroid disease

थायराइड एक  ऐसी बीमारी है जो किसी भी आयुवर्ग को अपनी चपेट में ले सकती है।आमतौर पर थायराइड की समस्या के कुछ लक्षण इस प्रकार से है अचानक से वजन का बढ़ना या फिर अचानक से वजन का कम होना,और गर्दन में दर्द या सूजन का होना.

भूख न लगना और पसीना अधिक आना आदि से आपको थायराइड से सम्बंधित समस्या की जानकारी मिल सकती|

घेंघा रोग के प्राकृतिक घरेलू आसान उपाय Natural home remedy for stroke disease

 थायराईड से पीड़ित व्यक्ति को कुछ दिनों तक अनानास, नारियल पानी, पत्तागोभी, संतरा, सेब, गाजर, चुकन्दर, तथा अंगूर जैसे फलो का जूस पीना चाहिए और कुछ दिन तक दूध में फल तथा तिल को डालकर पीना चाहिए।

इसके बाद रोगी को सामान्य भोजन करना चाहिए जिसमें हरी सब्जियां, फल तथा सलाद और अंकुरित दाल अधिक मात्रा में हो। इस प्रकार से कुछ दिनों तक उपचार करने से  रोग ठीक हो जाता है।

योग,व्ययाम से थाइराइड के रोकथाम Prevention of thyroid by yoga, exercise

अगर प्राकृतिक इलाज की बात की जाए तो योग थायराइड रोग के रोकथाम के लिए उत्तम समाधानों में से एक है सर्वांगासन भुजंगासन कपालभाति भस्त्रिका प्राणायाम उज्जई प्राणायाम जैसे  योगाभ्यास थायराइड के रोकथाम के लिए काफी फायदेमंद तथा वरदान है|

थाइराइड के घरेलू आसान तरीक़े Learn thiroid’s domestic easy ways

थाइराइड से बचने के लिए आप रोजाना सुबह उठकर खाली पेट लौकी का जूस पिए, और गेंहू का जूस निकाल कर पिए,हर रोज एक गिलास पानी में दो तीन चम्मच  एलो वेरा जूस और कुछ बूँद तुलसी की डाल कर पिए ये सब करने के आधे घंटे तक कुछ भी न खाए पिए, ऐसा रोजाना करने से आपको थाइराइड जैसी बीमारी से छुटकारा मिल जाएगा|

थाइराइड में क्या खाये Know What to eat in Thyroid

जिस व्यक्ति को थाइराइड की बिमारी है तो उन्हें अपने आहार में जौ,लहसुन,पुराने चावल,मूंग दाल, सहजन, ककड़ी,और गन्ने का रस,और दूध|

थायराइड की समस्या का प्राचीन आयुवेर्दिक उपाय Thyroid aaurvedik tritment

 घेंघा रोग की समस्या वाले लोगों को दही और दूध का प्रयोग अधिक करना चाहिए। दूध और दही में म कैल्शियम, मिनरल्स और विटामिन्स प्रयाप्त होते है जो थायराइड को स्वस्थ बनाए रखने का काम करते हैं।